मणिपुर में सरकार बनाने की होड़, कांग्रेस को 3 और BJP को 10 MLA की जरूरत

इंफाल (12 मार्च): विधानसभा चुनाव 2017 के नतीजों में गोवा और मणिपुर दोनों ही राज्य में किसी भी पार्टी को सरकार बनाने के लिए स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। लिहाजा कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों ही सरकार बनाने का दावा कर रही है।

मणिपुर में विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ कांग्रेस को राज्य की 60 सीटों में से 28 सीटें मिलीं, वहीं बीजेपी के खाते में 21 सीटें आई है। जबकि नगा पीपुल्स फ्रंट (NPF) और नगा पीपुल्स पार्टी (NPP) को 4-4 सीटें मिली हैं। लोक जनशक्ति पार्टी, तृणमूल कांग्रेस को 1-1 सीट मिली है जबकि 1 सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार विजयी रहा है।

ऐसे में कांग्रेस को राज्य में फिर से सरकार बनाने के लिए 3 विधायकों के समर्थन की जरूरी है जबकि बीजेपी को 10 विधायकों की जरूरत है। इन सबके बीच पूर्व सीएम इबोबी सिंह को कांग्रेस विधायक दल का नेता चुना गया है। वहीं बीजेपी महासचिव राम माधव का कहना है कि पार्टी मणिपुर में सरकार के गठन की खातिर जरूरी संख्या के लिए समर्थन जुटाएगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी को पहले ही कुछ समर्थन मिला है और मणिपुर में सरकार के गठन के लिए जरूरी संख्या हासिल करने के लिए अन्य का भी सहयोग मिलने की उम्मीद है। राम माधव का कहना है कि चुनाव नतीजे कांग्रेस और इबोबी सिंह सरकार के खिलाफ स्पष्ट जनादेश है।