मनीला में PM मोदी ने प्रवासी भारतीयों को किया संबोधित, कहा- 21वीं सदी को भारत की सदी बनाना संभव

मनीला (13 सितंबर): ASEAN समिट में हिस्सा लेने फिलिपींस की राजधानी मनीला गए प्रधानमंत्री मोदी ने आज यहां भारतीय समुदाय के लोगों से मुलाकात की और उन्हें संबोधित किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत बुद्ध और गांधी का देश है और शांति हमारे रगों में है। उन्होंने कहा कि कोई भी भारतीय सीना तानकर कह सकता है कि हम लोग दुनिया को देने वाले हैं, लेने वाले नहीं और छीनने वाले तो कतई नहीं हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हम वे लोग हैं, जिन्होंने शांति के साथ जीकर दिखाया है, शांति हमारी रगों में है।  

लगे हाथें प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार देश के हित में कड़े फैसले लेना जारी रखेगी। उन्होंने कहा सभी लोग कहते हैं 21वीं सदी एशिया की होगी। ऐसे में हमें कोशिश करनी है ये किस तरह से भारत की हो और ये संभव है। 

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने आसियान के व्यापार और निवेश समिट में भारत में कारोबार को लेकर अपनी बातें रखीं। मोदी ने कहा कि भारत सरकार की 'एक्ट ईस्ट पॉलिसी' को आसियान में केंद्र में रखा गया। उन्होंने कहा कि भारत को बदलने का कार्य अभूतपूर्व पैमाने पर आगे बढ़ रहा है। हम दिन-रात प्रभावी और पारदर्शी गवर्नेंस के लिए काम कर रहे हैं। मोदी ने कहा कि डिजिटल ट्रांजैक्शन में काफी इजाफा हुआ है। हम लोगों तक पहुंचने के लिए तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि हम 'मिनिमम गवर्मेंट, मैक्सिमम गवर्नेंस' पर जोर दे रहे हैं। पिछले तीन सालों में हमने करीब 1200 कानूनों को निरस्त कर दिया। हमने कंपनी शुरू करने या दूसरी मंजूरियों के लिए काम को सरल कर दिया है। भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अधिकांश क्षेत्र विदेशी निवेशकों के लिए खुले हैं।

मोदी ने इस सम्मेलन में जन धन योजना का जिक्र भी किया। उन्होंने कहा कि पहले भारत की आबादी के बड़े हिस्से की बैंकिंग सेवाओं तक पहुंच तक नहीं थी। लेकिन अब जन धन योजना ने कुछ ही महीनों में इस स्थिति को बदल कर रख दिया। इस योजना से लाखों लोगों की जिंदगी में बदलाव आया है।

सोमवार को आसियान शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई। वार्ता के बाद पीएम मोदी ने बताया कि राष्ट्रपति ट्रंप से विकास और सहयोग के मुद्दों पर बातचीत हुई। पिछले पांच महीने में मोदी की ट्रंप से के साथ यह तीसरी मुलाकात है। पीएम मोदी ने बताया कि भारत और अमेरिका के रिश्ते तेजी से गहरे हो रहे हैं। वार्ता के दौरान ट्रंप के साथ मानवता के लिए कुछ बेहतर करने पर चर्चा हुई। दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग बढ़ाने पर बातचीत हुई।