"कारोबारियों को खुश करने के लिए मोदी सरकार बेच रही है एयरइंडिया में हिस्सेदारी"

नई दिल्ली (29 जून): एयर इंडिया में सरकार की तरफ से विनिवेश को मंजूरी दिए जाने पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस का आरोप है कि कारोबारियों को खुश करने के लिए केंद्र सरकार ऐसा कदम उठा कर रही है।

गौरतलब है कि सरकार ने कर्ज में डूबी एयर इंडिया के विनिवेश के प्रस्ताव को बुधवार को सैद्धांतिक मंजूरी दी और यह निर्णय भी किया गया कि देश की इस सबसे पुरानी एयरलाइन कंपनी में सरकार की बिक्री की जाने वाली हिस्सेदारी व बिक्री के तौर-तरीके के निर्धारण के लिए मंत्रियों का एक समूह गठित किया जाएगा।

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा कि सरकार यह सब कर रही है, क्‍योंकि चुनाव नजदीक हैं। जब अडाणी को सभी किसानों की तुलना में कहीं ज्‍यादा कर्ज मिल सकता है तो यह बिल्‍कुल स्‍पष्‍ट संकेत है कि सरकार द्वारा एयर इंडिया के विनिवेश को मंजूरी कारोबारियों को खुश करने के लिए उठाया गया एक कदम है। उनका इरादा बिल्‍कुल साफ है। चुनाव नजदीक हैं और इसलिए वे ऐसा कर रहे हैं, राष्‍ट्र हित में नहीं।

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि इस तरह के कदम से एससी और एसटी वर्गों से नौकरियों के अवसर छिनेंगे। गौरतलब है कि एयर इंडिया पर इस समय कुल मिलाकर लगभग 52 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है। जबकि इसका संचित घाटा भी 48 हजार करोड़ रुपये के करीब है।