जर्मनी से मंदसौर आई बारात, इंटरनेट पर परवान चढ़ा प्यार

मनीष पुरोहित, मंदसौर (19 फरवरी): बहुत पुरानी कहावत है कि जोड़ियां रब बनाता है। यह एकबार फिर सच साबित हुआ है मध्यप्रदेश के मंदसौर में। मंदसौर की बेटी को जर्मनी के बर्लिन शहर का युवक सोशल मिडिया के द्वारा पसंद आया और फिर दोनों को आपस में प्‍यार हो गया। मंदसौर की एक बिटिया की बारात सात समंदर पार से आई। 

मंदसौर की बिटिया कीर्ति शर्मा से बर्लिन शहर का पुलिस ऑफिसर टीनो बाऊडे ने शनिवार को विवाह किया। हिंदू रीति-रिवाज से दो दिन तक आयोजित कार्यक्रमों में जर्मन की बरात में आनंद लिया। बारात के सदस्यों ने भारतीय संस्कृति और रीति रिवाजों को बहुत सराहा भी और मन से स्वीकारा भी।

यह रोचक प्रसंग इस प्रकार है कि मंदसौर शहर के नई आबादी क्षेत्र के रहने वाले बिजली कंपनी के रिटायर्ड कार्यपालन यंत्री मदनलाल शर्मा की पुत्री कीर्ति शर्मा ने एमबीए की डिग्री ली। बाद में कीर्ति दुबई में स्केपफोल्डिंग कंपनी में सेल्स मैनेजर के पद पर कार्यरत जीजा उमनेश कांवले व बड़ी बहन प्रीति कांवले के पास रहने चली गई। 

यहां कीर्ति ने एक निजी कंपनी के एकाउंट मैनेजर के रूप में कार्य करने लगी। वह फुर्सत के क्षणों में इंटरनेट पर मित्रों के साथ चेटिंग करती थी। इस दरमियान नेट पर ही करीब डेढ़ साल पहले चेटिंग के दौरान जर्मनी के बर्लिन के रिटायर्ड कस्टम ऑफिसर मेनफ्रेड बाउडे के पुलिस ऑफिसर बेटे टीनो से संपर्क हुआ। दोनों के बीच सूचना और संदेशों का आदान प्रदान हुआ। धीरे-धीरे दोनों के बीच प्रेम पनपने लगा। कुछ ही माह में प्रेम इतना परवान चढ़ा कि टीनो बर्लिन से कीर्ति से मिलने दुबई जा पहुंचा।

यहां पहली बार एक दूसरे से मिले और इसके बाद मिलने का सिलसिला चला। एक दूसरे को जानने समझने के बाद दोनों ने विवाह सूत्र में बंधने का निर्णय लिया। दोनों ने अपने परिजनों को जानकारी दी। इस पर कु छ समय दोनों परिवारों ने विचार विर्मश कर कीर्ति एवं टीनो की इच्छाओं व प्रेम का आदर कर शादी के लिए स्वीकृति दे दी। इस पर डेनमार्क में जाकर इन दोनों ने अपनी शादी रजिस्टर्ड करवाई। इसके एक माह के बाद दोनों के परिजन मंदसौर में हिंदू रीति रिवाज के साथ विवाह करने पर रजामंद हुए।

टीनो आठ सदस्यी बरात लेकर 17 फरवरी को मंदसौर पहुंचे। यहां उनका कीर्ति के परिजनों एवं रिश्तेदारों ने खूब स्वागत सत्कार किया। दूर-दूर से रिश्तेदार इस शादी में शरीक होने पहुंचे। कीर्ति की पांचों बहने सपरिवार इस शादी में शामिल हुई। कीर्ति की माता सुशीला शर्मा का उत्साह देखते ही बन रहा था। वहीं टीनो के भाई-भाभी अपने बच्चों के साथ, पिता व एक करीबी दोस्त हिंदू संस्कृति के अनुरूप विवाह की रस्मों को देखने के लिए खासे उत्साहित थे। टीनो का उत्साह तो देखते ही बनता था।