अपने 'सूमो' जैसे बच्चों को बचाने के लिए किडनी का सौदा करने पर मजबूर है पिता

सूरत (24 जून): सूमो जैसे दिखने वाले इन बच्चों का पिता अपनी किडनी बेचने के लिए मजबूर है। वो अपनी किडनी बेचकर अपने बच्चों का इलाज करवाना चाहता है। यह कहानी है गुजरात के रहने वाले रमेशभाई नंदवाना की जो अपने आश्चर्यजनक रूप से मोटे हुए बच्चों को लेकर बेहद परेशान हैं। 34 साल के रमेश इस कदर लाचार हैं कि बच्चों के लिए अपनी किडनी का सौदा करने को तैयार हैं।

रमेश को इस बात का डर सता रहा है कि कहीं समय रहते उनके बच्चों का इलाज नहीं हो पाया तो समस्या गंभीर भी हो सकती है। ऐसे में उनकी मृत्यु भी हो सकती है। उनके तीन बच्‍चे योगिता रमेशभाई नंदवाने, तीन साल की अनीषा और 18 महीने का हर्षदुनिया का सबसे भारी युवा बच्चों में शामिल हैं। जितना खाना दो परिवारों एक महीने में खाते हैं, उतना ये तीनों बच्‍चे एक हफ्ते में खा जाते हैं।

योगिता और अनीषा 18 चपाती, डेढ़ किलो चावल, दो कटोरे शोरबा, बिस्कुट के पांच पैक, 12 केले और एक लीटर दूध रोजना खाते हैं। जब उन्‍हें अधिक भूख लगती है, तो कई बार उनकी मां प्रागना बेन का पूरा-पूरा दिन खाना बनाने में ही बीत जाता है। वे हर समय खाना मांगते रहते हैं और खाना नहीं मिलने पर रोते हैं।