लंगर लगाने की चाहत में इस करोड़पति ने बेच दी सारी संपत्ति

चंडीगढ़ (2 जनवरी): शहर के एक कड़ोपति ने अपनी एक अनोखी चाहत को पूरा करने के लिए अपनी सारी संपत्ति बेच दी। इस करोड़पति का नाम है जगदीश लाल आहुजा। ये कभी करोड़पति थे लेकिन 15 सालों से पीजीआई अस्पताल के बाहर लंगर लगाने के कारण उनकी संपत्ति अब न के बराबर रह गई है।

आहुजा को उनके लंगर खाने वाले लोग बाबा कहकर पुकारते हैं। वहीं उनकी पत्नी को जय माता दी के नाम से जानते हैं। 80 साल के आहुजा पत्नी के साथ मिलकर रोज एक हजार लोगों का पेट भरते हैं। आहुजा कहते हैं कि उन्हें जब भी कोई भूखा नजर आता है तो वे उसमें अपने बच्चे को देखते हैं और वे अपने बच्चे को भूखा कैसे रख सकते हैं।

उम्र ज्यादा होने के कारण और लगातार तबियत खराब रहने के कारण वो चाहते हैं कि कोई व्यक्ति या सोसायटी इस लंगर को संभालने की जिम्मेदारी ले ले। अगर कोई नहीं लेता है तो उनका कहना है कि जब तक वे जीवित रहेंगे तब तक पीजीआई के बाहर लंगर चलता रहेगा।