ये हैं 'गिनीज़ ऋषि': रेकॉर्ड के लिए मुंह में ठूंसने थे 496 स्ट्रॉज़, उखड़वा दिए सारे दांत, गुदवाए 500 टैटू

नई दिल्ली (26 मई): गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स बनाने के लिए इसे 'दीवानापन' कहा जाए या 'पागलपन' आप खुद ही तय करिए। इस शख्स ने रेकॉर्ड बनाने के लिए अपने जबड़ों के सारे दांत उखड़वा दिए। जिससे वह करीब 500 ड्रिंकिंग स्ट्रॉज़ और 50 जलती हुई कैंडल्स को अपने मुंह में रख सके। इसके अलावा इस शख्स ने अपने शरीर पर 366 झंड़ों के टैटू भी गुदवा लिए।

इस तरह 20 से भी ज्यादा रेकॉर्ड्स बनाने वाले 'हर प्रकाश ऋषि' खुद को गिनीज़ ऋषि कहते हैं। 1942 में नई दिल्ली के एक सिनेमा हॉल में जन्म लेने वाले हर प्रकाश का नाम पहली बार गिनीज रेकॉर्ड में तब दर्ज हुआ, जब दो दोस्तों के साथ एक स्कूटर पर 1,001 घंटे तक सवारी की।

'हिंदुस्तान टाइम्स' की रिपोर्ट के मुताबिक, इस तरह रेकॉर्ड बुक में नाम दर्ज कराने की ललक ने उनसे कुछ ऐसे अजीबोगरीब कारनामे करवाए। जिनमें उन्होंने एक पिज्ज़ा नई दिल्ली से सेन फ्रैंसिस्को ले जाकर डिलिवर किया। इसके अलावा वह 4 मिनट से कम समय में एक बॉटल टोमैटो कैचअप पी गए।

रेकॉर्ड में उन्होंने अपने परिवार को भी शामिल कर लिया है। उनकी पत्नी बिमला के नाम 1991 का रेकॉर्ड है। जिसमें उन्होंने दुनिया की सबसे छोटी वसीयत लिखी- "सब कुछ बेटे के लिए"।

ऋषि पेशे से ऑटो पार्ट्स बनाते हैं। उनके लिए सबसे मुश्किल काम था स्ट्रॉज़ को अपने मुंह में ठूंसना। उन्होंने कहा, "मेरे पास 496 स्ट्रॉज़ अपने मुंह में ठूंसने का रेकॉर्ड है। इस रेकॉर्ड के लिए मुझे जगह चाहिए थी। मैंने हर एक दांत को निकलवा दिया। जिससे में अपने मुंह में सबसे ज्यादा संख्या में स्ट्रॉज़ ठूंस सकूं।"

अब वह अपने शरीर पर वैश्विक नेताओं के टैटू बनवा रहे हैं, जिनकी कुल संख्या 500 पहुंच चुकी है। जिनमें भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा, ब्रिटेन की क्वीन इलिजाबेथ और महात्मा गांधी।