लादेन की मौत के बाद पाकिस्तान में पैसा लगाकर यह शख्स बना अरबपति

नई दिल्ली (3 जून): पाकिस्तान को आतंकियों की सबसे बड़ी पनाहगाह के रूप में जाना जाता है। पाक के एबटाबाद

में आतंकी ओसामा बिन लादेन के मारे जाने से दुनिया ने भी इस बात को स्वीकारा। पाकिस्‍तान सिर्फ आतंकवाद

ही नहीं बल्कि अपने खस्‍ताहाल हो चुके आर्थिक हालातों की वजह से भी खबरों में छाया रहता था।


हालांकि इन सभी के बीच एक अमेरिकी निवेशक ने पाकिस्तान में उस समय निवेश किया, जब इस विषय पर

दुनिया का कोई भी इंसान नहीं सोच सकता था। इस अमेरिकी निवेशक ने अक्‍टूबर 2011 में 10 लाख डॉलर

का निवेश किया था जो अब 10 करोड़ डॉलर हो चुके हैं।


रिपोर्ट के अनुसार, स्वीडिश इक्विटी फंड टुंड्रा फॉन्डर के सीईओ मैटियास मार्टिनसन ने वहां एक मौका तलाश

किया। ओसामा के मारे जाने के छह महीने बाद उन्‍होंने अक्टूबर 2011 में पाकिस्तान में पहला विदेशी इक्विटी

फंड शुरू किया। शुरुआत में कोई उनके साथ पाकिस्तान में निवेश करने को तैयार नहीं था, इसलिए उन्होंने अपने

और पार्टनर्स के 10 लाख डॉलर का निवेश किया। स्टॉक मार्केट में सुधार के बाद आज वह फंड 10 करोड़ डॉलर

का हो गया है।