जेठ ने दोस्तों के साथ मिलकर किया बहू का रेप, फिर हत्या कर खेत में गाड़ा

उदयपुर (22 जनवरी): उदयपुर से सटे पाली के साकदड़ा गांव में ऑपरेशन स्माइल के तहत पुलिस ने एक बड़े क्राइम का खुलासा किया है। यहां 9 महीने से लापता दो बच्चों और उनकी मां को खोज निकाला लेकिन अफसोस कि पुलिस के हाथ उनका कंकाल ही हाथ लगा। क्योंकि उन्हें हत्या के बाद जमीन में गाड़ दिया गया था। हालांकि जांच में हत्या का मामला निकलने पर पुलिस ने मृतक महिला के कुंवारे जेठ को गिरफ्तार कर लिया है।

क्यों की हत्या कुंवारे जेठ फूलपुरी गोस्वामी ने पहले अपने छोटे भाई की पत्नी पिंकी के साथ जबरन अवैध संबंध बनाए। फिर उसे अपने तीन साथियों के हवाले कर दिया। जिन्होंने मृतका के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया। इसके बाद किसी को पता न चले इसलिए उनकी हत्या कर खेत में गाड़ दिया।

बात 15 जून 2015 की है। जब जेठ की हरकतों से परेशान होकर पिंकी ने पुलिस को बताने की बात कही तो आरोपी ने विरोध और अवैध संबंधों की कहानी का भंडाफोड़ होने के डर से अपने साथियों के मिलकर हत्या कर दी। साथ में दोनों बच्चे दुर्गेश (3) और मुकेश (13 दिन) को मारकर एक खेत में गाड़ दिया था। 

जेठ के तीनों दोस्तों ने मिलकर अपने इस जघन्य वारदात में मामी देवी पत्नी रतनपुरी तथा मंगलाराम पटेल की पत्नी विद्या को भी शामिल कर लिया। पुलिस ने मृतकों के बिसरा और डीएनए सैंपल लिए हैं। मामले की जांच तखतगढ़ पुलिस को सौंपी गई है, जिसने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर गहनता से पूछताछ शुरू की है।

एसपी दीपक भार्गव का कहना है कि यह जघन्य हत्याकांड है। जमीन में दफन किए गए हत्याकांड का राज खोलने में पुलिस का काम सराहनीय है।