एक साल के बच्चे में डेवलेप हो गया मैनहुड पार्ट, करने लगा बड़ों जैसी हरकतें

नई दिल्ली (1 जून): क्या एक साल के बच्चे में यौन संवेदनाएं सक्रिय हो सकती हैं, क्या एक साल के बच्चे का मेल पार्ट वयस्कों की तरह विकसित हो सकता है, और क्या एक साल का बच्चा 25 साल के आदमी की तरह यौन इच्छा कर सकता है ? सुनने में तो यह एक कुंठित मानसिकता वाली काल्पनिक कहानी जैसी लगती है-मगर ये कहानी सच्ची है। ये कहानी भारत की राजधानी दिल्ली में जन्में एक बच्चे की है।

इस बच्चे में एक साल की छोटी सी उम्र में ही यौन विकार शुरु हो गये हैं। इस बीमारी से  बच्चे के शरीर में कम उम्र से ही बदलाव होने लगे हैं। और उसके मैनहुड ऑरगन भी डेवलेप हो गये हैं। बच्चे के माता-पिता के मुताबिक जब वो सिर्फ 6 महीने का था तभी से  उसके शरीर में फिजिकल चेंजेस होने लगे थे। यह बच्चा शुरु से अन्य बच्चों की अपेक्षा ज्यादा लंबा था और उसके प्राइवेट पार्ट भी तेजी से उभर हो रहे थे।

उसके चेहरे और बॉडी पर भी तेजी से बाल आ रहे थे। उसकी यौन संवेदनशीलता आश्चर्यजनक थी। उसकी कुछ अजीब-गरीब हरकतों को देख कर माता-पिता उसे डॉक्टर के पास ले गये जहां उसका टेस्टोस्टेरोन हारमोन 25 साल के युवक के बराबर पाया गया। डॉक्टर्स का मानना है कि ये बीमारी सामान्यतः ये बीमारी 10 साल के के बच्चे को हो सकती है लेकिन उसे जो बीमारी हुई है वो एक लाख बच्चों में से एक को होती है।