लखीमपुर खीरी: आदमखोर बाघ का आतंक, 5 दिन में मार डाले 3 लोग

नई दिल्ली (23 अगस्त): उत्तर प्रदेश में पांच दिन में हुईं तीन मौत। इन मौतों को अंजाम दिया आदमखोर बाघ ने। बाघ ने तीन मासूम ग्रामीणों पर हमला कर मौत के घाट उतार दिया है। ग्रामीणों मे वन विभाग के प्रति काफी रोष है, अगर समय रहते वन विभाग बाघ पकड़ने की कार्रवाई करता तो शायद कुछ जान बच सकती थी। लेकिन अब मृतक के परिजनों के पास आँसू के शिवाय कुछ नही है, बेहाल परिजन वन विभाग को कोस रहे है।

- लखीमपुर खीरी के मैलानी वन रेंज के छेदीपुर गाँव की घटना। - आदमखोर हो चुके बाघ ने पांच दिनो मे तीन लोगों की जान ले चुका है। - एक एक कर मारे गये निर्दोष इंसान जिनके घर वालो ने वन विभाग से पहले ही गुहार लगाई थी। लेकिन वन विभाग नही चेता और तीन मौत के बाद आखिरकार वन विभाग नींद से जागा। - मौके पर दलबल के साथ ट्र्न्कूलाइज टीम व पिंजडा साथ ही लेकर पहुंचा। - वन-अधिकारी का कहना है जल्द ही बाघ को ट्र्न्कूलाइज कर पकड़ लिया जायेगा।  - 15 अगस्त को एक लड़की की मौत के बाद खूँखार हो चुका बाघ अगले दिन टीकाराम पर हमला करके उसे मार डालाय़ - अब आदमखोर बाघ ने अगले ही दिन बाबूराम की जिंदगी ख़त्म कर दी। - तीन मौत से भन्नाये ग्रामीणों मे खौफ फैल गया है।