पकड़ा गया लखीमपुर खीरी का आदमखोर बाघ

नई दिल्ली (1 सितंबर): हाल ही में चार लोगों की जान लेने वाले बाघ को आखिर पकड़ लिया गया। इससे कुछ घंटे पहले ही बाघ का डेथ वारंट जारी किया गया था, अब जिंदा पकड़े जाने के बाद उसे पिंजड़े में लखनऊ के चिड़ियाघर भेज दिया गया।

इस बाघ ने 17 से 30 अगस्त के बीच एक किशोरी समेत चार ग्रामीणों को मार डाला। एक दिन पहले ही मंगलवार को कठिना पुल के पास भरिगवां निवासी 60 वर्षीय जानकी प्रसाद को भी हमला कर मारा था। इसके बाद वन विभाग इस निष्कर्ष पर पहुंचा कि इससे और इंसानों की जान को खतरा हो सकता है। इसके चलते वन विभाग को इसे आदमखोर घोषित करना पड़ा।

बाघ को पकड़ने के लिए आई लखनऊ की टीम में शामिल वाइल्ड लाइफ विशेषज्ञ डॉ. मसूख चटर्जी ने फिलहाल बाघ को आदमखोर मानने से इंकार करते हुआ कहा कि लखनऊ में पूरी स्वास्थ्य जांच होने के बाद ही इस मामले में कुछ कहा जा सकेगा।