मुस्लिम ड्राइवर होने की वजह से कैंसल की कैब, कहा- नहीं देना चाहता जिहादियों को पैसे

नई दिल्ली (23 अप्रैल): अभिषेक मिश्रा नामक एक यूजर ने कुछ दिन पहले ओला कैब को इसलिए कैंसल कर दिया था क्योंकि कैब का ड्राइवर एक समुदाय विशेष से था। इसके बाद अभिषेक ने कैंसल की गई कैब से जुड़ा स्क्रीनशॉट ट्विटर पर डालते हुए लिखा था कि वह अपने पैसे 'जिहादियों' को नहीं देना चाहते।

Cancelled @Olacabs Booking because Driver was Muslim. I don't want to give my money to Jihadi People. pic.twitter.com/1IIf4LlTZL

— Abhishek Mishra (@Abhishek_Mshra) April 20, 2018

अभिषेक का ट्वीट वायरल होने के बाद ओला ने जवाब देते हुए लिखा, 'हमारे देश की तरह ओला भी एक सेक्युलर प्लैटफॉर्म है। हम अपने ड्राइवर्स और कस्टमर्स में जाति, धर्म, लिंग या पंथ के आधार पर भेदभाव नहीं करते हैं। हम अपने सभी ग्राहकों और ड्राइवर्स से आग्रह करते हैं कि वे एक-दूसरे से सम्मान के साथ व्यवहार करें।'

Ola, like our country, is a secular platform, and we don't discriminate our driver partners or customers basis their caste, religion, gender or creed. We urge all our customers and driver partners to treat each other with respect at all times.

— Ola (@Olacabs) April 22, 2018

खुद को हिंदुवादी विचारक बताने वाले अभिषेक मिश्रा ने कहा कि 20 अप्रैल को उसने अपनी कैब राइड कैंसिल कर दी थी, क्योंकि वह 'जिहादियों' को अपने पैसे नहीं देना चाहता। ट्वीट के साथ अभिषेक मिश्रा ने एक स्क्रीनशॉट भी शेयर किया, जिसमें ड्राइवर का नाम मसूद आलम लिखा हुआ था। मिश्रा का ट्विटर हैंडल वेरिफाइड है और उसके 14 हजार से अधिक फॉलोवर्स हैं। उसे फॉलो करने वालों में रक्षामंत्री निर्मला सीतारमन, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और संस्कृति मंत्री महेश शर्मा शामिल हैं।