20 साल से चला रहे किडनी रैकेट का मास्टरमाइंड डॉ. अमित गिरफ्तार

नई दिल्ली (17 सितंबर): देहरादून किडनी कांड में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने किडनी रैकेट चलाने वाले डॉक्टर अमित को गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी निवेदिता कुकरेती दोपहर बाद प्रेस कांफ्रेंस कर मामले की पूरी जानकारी देंगी। 

जानकारी के मुताबिक किडनी रैकेट आरोपी डॉक्‍टर अमित को पंचकूला हरियाण से गिरफ्तार किया गया है। वहीं आरोपी बेटा अक्षय अभी भी फरार है। अमित को इस रैकेट का सरगना बताया जा रहा है। शहर के लालतप्पड़ में चल रहे किडनी कांड के खुलासे से उत्तराखंड में हड़कंप मचा हुआ है। हरिद्वार और देहरादून की जॉइंट पुलिस टीम ने इस रैकेट का पर्दाफाश किया था।

पंचकूला से गिरफ्तारी के बाद सभी आरोपियों को देहरादून एसएसपी दफ्तर लाया जा रहा है। उनके पास से 33 लाख 71 हजार रुपये भी बरामद हुए हैं। इस मामले में डॉक्टर अमित का आरोपी बेटा अक्षय अभी फरार चल रहा है।

बताया जा रहा है कि इस किडनी रैकेट के तार विदेश तक जुड़े हुए हैं। दुबई और ओमान के नागरिकों को किडनी ट्रांसप्लांट करने वाले गिरोह के सरगना डॉक्टर अमित के सहयोगी जगदीश की सूरत से गिरफ्तारी हुई थी। पुलिस ने उसको ट्रांजिट रिमांड पर लिया है।

पुलिस की तफ्तीश में अमित के भाई जीवन के शामिल होने की बात भी सामने आ रही है। जीवन पेशे से BAMS डॉक्टर है। गौरतलब है कि 2008 में CBI ने किडनी के अवैध धंधे में उसे आरोपी भी बनाया था। हालांकि सबूतों की कमी के चलते वह कोर्ट से बरी हो गया था। जिसके बाद वह एक बार फिर से किडनी रैकेट में अपने भाई के साथ शामिल हो गया। फिलहाल जीवन गुरुग्राम में ही रह रहा है।