अलीगढ़ का एक शख्स मरने के बाद हो गया ज़िंदा?

नई दिल्ली (3 मई): क्या आत्मा शरीर को छोड़कर कई घंटों बाद वापस अपने पुराने शरीर को धारण कर सकती है ? आप ज़रूर चौंक गए होंगे, लेकिन एक शख्स ने चौंकाने वाला दावा किया है। अलीगढ़ के रहने वाले एक शख्स ने हैरान करने वाला दावा किया है। उसने कहा कि वो मरने के बाद एक ऐसी जगह गया, जहां बड़े-बड़े रजिस्टर रखे हुए थे और इंसान के कर्मों का हिसाब हो रहा था।अलीगढ़ के अतरौली इलाके के किरथला गांव में कुछ दिन पहले रामकिशोर नाम के व्यक्ति की अचानक मौत हो गई। इसे लेकर पूरे परिवार में मातम फैल गया, लेकिन कुछ घंटों बाद रामकिशोर ज़िंदा हो गए। उन्हें मरने के बाद जटाधारी साधु दिखे। साधुओं के पास पुस्तकें थी। काली स्याही रखी हुई थी। रामकिशोर के कर्मों का हिसाब हुआ। उसके बाद रामकिशोर को धक्का देकर वापस धरती पर भेज दिया गया।अलीगढ़ के रहने वाले रामकिशोर ने कई हैरान करने वाले दावे किए हैं, लेकिन आख़िर हकीकत क्या है? इसकी पड़ताल करना बहुत ज़रूरी था। हमने दिल्ली में सर गंगाराम अस्पताल में काम करने वाले मनोवैज्ञानिक डॉ राजीव मेहता से बता की, जिन्होंने कहा कि ये सब कोरी कल्पना थी। ये उनके अपने अनुभव रहे होंगे, जिसे उन्होंने बेहद करीब से महसूस किया होगा और वो उसे सच मानने लगे, लेकिन इसके अलावा भी कई सवाल थे।सच्चाई ये भी है किसी भी डॉक्टर ने रामकिशोर की मौत की पुष्टि नहीं की थी। यानी ये साफ़ नहीं है कि उनकी मौत हुई थी। ऐसे में डॉक्टर्स भी उनकी बातों को कोरी कल्पना बता रहे हैं। साफ़ है कि रामकिशोर की मौत नहीं हुई थी और कई बार इंसान के अचेतन मन में उमड़ने वाली चीज़ें उसे सपने में भी दिखाई देती रहती हैं। ऐसी कई चीज़ें हैं जो इंसान कह नहीं पाता, लेकिन दिमाग़ के एक हिस्से में ऐसी बातें घर कर जाती हैं और इंसान जब उसे बेहद करीब से अनुभव करता है तब वो उसे सच मानने लगता है। ऐसे में उन्हें जटाधारी साधु, रजिस्टर, स्याही इसलिए दिखाई दिया होगा, क्योंकि वो उसके बारे में बहुत ज़्यादा सोचते होंगे, जिसे वो सच मानने लगे। ऐसे में अलीगढ़ के रहने वाले एक शख्स के मरने के बाद ज़िंदा होने की वायरल ख़बर झूठ साबित हुई।अलीगढ़ का एक शख्स मरने के बाद हो गया ज़िंदा?