ममता का मोदी सरकार पर बड़ा हमला

नई दिल्ली(2 अगस्त): विभाजनकारी राजनीति करने को लेकर एनडीए नीत केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को अल्पसंख्यक समुदाय से इसके जाल में नहीं फंसने का अनुरोध किया।

- उन्होंने कहा कि भारत एक बड़े संयुक्त परिवार की तरह है जहां कई धर्मों के लोग दशकों से भाइयों के रुप में रहते आ रहे हैं। ममता ने कहा कि भाजपा सरकार विभिन्न तरीकों से देश के सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ रही है।

- ममता ने कहा कि एनडीए का एकमात्र काम लोगों को बांटना, गाय की गणना कराने और देश में कट्टरपंथ फैलाना है। यह सिर्फ मुस्लिम समुदाय पर हमले के बारे में नहीं है बल्कि ईसाइयों और दलितों पर हमले के बारे में भी है।

- उन्होंने अल्पसंख्यक मामलों के एक कार्यक्रम में कहा कि बीजेपी की रुचि समुदायों के विकास में नहीं है बल्कि उन्हें बांटना चाहती है। उन्होंने मुस्लिम समुदाय से बीजेपी की सांप्रदायिक और बांटने वाली राजनीति के जाल में नहीं फंसने की अपील करते हुए कहा, 'वह (बीजेपी) सांप्रदायिक नफरत फैलाने के लिए फेसबुक और ट्विटर का इस्तेमाल कर रही है। मैं अल्पसंख्यक समुदाय के अपने भाइयों और बहनों से अनुरोध करती हूं कि वे उनके जाल में न फंसे।'

- ममता ने कहा कि कृपया वे लोग जो कुछ कहते हैं कृपया उस पर ध्यान नहीं दें। वे आपको आपने जाल में फंसाना चाहते हैं। भारत एक बड़ा संयुक्त परिवार है जहां कई धर्मों के लोग भाइयों की तरह रहते आ रहे हैं। यदि हमारा कोई भाई बीमार पड़ता है तो अन्य भाई स्वस्थ नहीं रह सकता। उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों के विकास के लिए कई परियोजनाओं की भी घोषणा की। उन्होंने 'हज साथी' नाम के एक मोबाइल ऐप का भी शुभारंभ किया।