Blog single photo

ममता बोली- आयोग ने बीजेपी के दबाव में लिया फैसला

ममता ने प्रधानमंत्री मोदी पर फिर से निजी तौर पर हमला बोला है। ममता ने कहा है कि जो आदमी अपनी पत्नी की देखभाल नहीं कर सकता वो देश को क्या संभालेगा। ममता ने कहा कि मंगलवार की हिंसा और चुनाव आयोग की कार्रवाई पर ममता ने कहा कि पश्चिम बंगाल के लोगों ने इसे गंभीरता से लिया है...

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 15 मई):  पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा के बाद चुनाव आयोग की कार्रवाई को ममता बनर्जी ने बीजेपी के दवाब में की गयी कार्रवाई बताया है। ममता ने कहा है कि गुरुवार को मोदी की दो रैली हैं। चुनाव आयोग ने मोदी की रैली पर कोई रोक नहीं लगाई और न ही अमित शाह को कोई नोटिस भेजा है। इसके अलावा ममता ने प्रधानमंत्री मोदी पर फिर से निजी तौर पर हमला बोला है। ममता ने कहा है कि जो आदमी अपनी पत्नी की देखभाल नहीं कर सकता वो देश को क्या संभालेगा।  ममता ने कहा कि  मंगलवार की हिंसा और चुनाव आयोग की कार्रवाई पर ममता ने कहा कि  पश्चिम बंगाल के लोगों ने इसे गंभीरता से लिया है। बीजेपी ने दंगे जैसे हालात पैदा किए हैं। बंगाल में मतदान के लिए राज्य पुलिस के बजाए सिर्फ केंद्रीय बलों का इस्तेमाल हो रहा है।ममता बनर्जी ने कहा, अमित शाह कल कोलकता आए थे और उन्होंने यहां हिंसा जैसी हालात बना दी है। मैं चुनाव आयोग से विनती कर रही हूं कि आखिर उनको राजीव कुमार से इतना गुस्सा क्यों हैं। अगर आईपीएस और आईएएस राज्य सरकार के अंदर हैं तो उनको दिल्ली वापस क्यों बुलाया जा रहा है। यह अभूतपूर्व है। हालांकि, मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। अगर चुनाव आयोग में इतनी हिम्मत है तो उन्होंने अमित शाह क्यों नहीं रोका। अमित शाह ने क्यों बंगाल को अपमानित किया?उन्होंने आगे कहा, अगर चुनाव आयोग को इतनी चिंता हैं तो उन्होंने आज ही 324 क्यों नहीं लगा दिया। इतनी हिम्मत है तो आज शाम से चुनाव प्रचार बंद कर देते। उन्होंने ऐसा इसलिए नहीं किया, क्योंकि कल पीएम नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल में रैली है। चुनाव आयोग में आरएसएस के लोग भर गए हैं। क्या चुनाव आयोग को लगता है कि वो ऐसा करके बीजेपी या मोदी को जिता पाएंगे। आयोग तो अमित शाह और बीजीपे के गुडों के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। आयोग ने विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने वालों को प्रोत्साहित किया है।ममता बनर्जी ने आगे कहा, रैली में हिंसा के लिए अमित शाह जिम्मेदार हैं। कोलकता हिंसा के पीछे बीजेपी का हाथ है, मोदी मुझसे डरने लगे हैं। आयोग ने अधिकारियों को अंधेरे में रखा है। अन्याय अमित शाह ने किया, सजा हमें मिली। बीजेपी ने दंगे जैसे हालात बनाए हैं। अमित शाह के इशारे पर आयोग ने यह फैसला लिया है। बंगाल को यूपी, बिहार, त्रिपुरा न समझें। बीजेपी ने विद्यासागर की मूर्ति तोड़ी है। ममता ने आगे कहा, मोदी जी आपने गुजरात में हेराफेरी करने क्या कर लिया? गुजरात में आपने बहुत फोर्स भेजा, जिससे हार्दिक पटेल चुनाव नहीं लड़ सके। आप बंगाल को बदनाम कर रहे हैं। आप बंगाल के लोगों को नहीं जानते हैं।

Tags :

NEXT STORY
Top