ममता को मिला सपा का साथ, बोलीं- नोटबंदी वापस लो वरना मोदी वापस जाओ


मानस श्रीवास्तव, लखनऊ (29 नवंबर): लखऩऊ मे वैसे तो पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का कोई जनाधार नहीं है, लेकिन उनकी फायर ब्रांड इमेज को ध्यान मे रखते हुए और रैली को सफल बनाने के लिए समाजवादी पार्टी ने अपनी ताकत झोंक दी। सपा का साथ मिला तो ममता बनर्जी ने मोदी पर हमला बोल दिया। एक के बाद एक ममता ने कई तीर मोदी पर छोडे़ औऱ नारा बुलंद कर दिया कि नोटबंदी वापस लो वरना मोदी वापस जाओ।

प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ हमलावर ममता बनर्जी यूपी चुनाव में अपनी जमीन तलाशने की कोशिश कर रही है। मौका देखकर ममता बनर्जी ने समाजवादी पार्टी के सहयोग से भारतीय जनता पार्टी औऱ नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला। ममता बनर्जी के स्वागत के लिए सपाईयों की भीड़ उमड़ पड़ी। 1090 चौराहे पर जनसभा मे बोलते हुए ममता बनर्जी से आरोप लगाया कि यूपी औऱ पंजाब मे चुनाव को देखकर मोदी ने नोटबंदी का फैसला लिया, लेकिन पूरा विपक्ष इस वक्त लामबंद है। ममता ने कहा कालाधन रखने वालों को पकड़ना है तो मोदी पहले बीजेपी अध्यक्ष से शुरुआत करे।

ममता ने लोगों की दुखती रग पर हाथ रखा, 'कहा बेटी की शादी हो तो मोदी के पैर पकड़ना पडे़गा, मोदी अब आपकी जमीन औऱ घर छीन लेगे। देश मे सबकुछ बंद है, खेती से लेकर बाजर तक सब बंद है।' इधर ममता बनर्जी का भाषण चल रहा था तो उधर ममता के समर्थन मे उतरे सपा कार्यकर्ता प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। ममता ने कहा कि मोदी ने जनता का सबकुछ छीन लिया है।

ममता ने ऐलान किया कि अगर मोदी चाहे तो सबको जेल भेज दे। उनकी ताकत का भी पता चल जाएगा औऱ जनता के मूड़ का भी। ममता ने आरोप लगाया कि नोटंबदी से पहले बीजेपी, संघ औऱ बजरंग दल जैसे संगठनों की व्यवस्था पहले ही विदेशों में कर दी गई थी। अब एक तारीख आने वाली है लोग को सैलरी चेक से मिलेगी, लेकिन हाथ में पैसा नहीं होगा तो खाने को क्या मिलेगा।

ममता बनर्जी ने समाजवादी पार्टी की जमकर तारीफ की। खबर यह भी थी कि ममता के साथ यूपी के सीएम अखिलेश यादव भी शामिल होगे, लेकिन अखिलेश नहीं आए। हालांकि उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पूरे जोश से ममता का स्वागत किया। इसके बाद इस बात के कयास भी लगाये जा रहे है कि आने वाले समय मे सपा ममता बनर्जी के फायर ब्रांड इमेज का प्रचार मे इस्तेमाल कर सकती है औऱ ममता को भी सपा के जरिए यूपी में अपनी पार्टी को चुनाव मैदान मे उतारने का मौका मिल जाए।