Blog single photo

ममता बनर्जी का बीजेपी पर निशाना, 'वोटिंग मशीन में छेड़छाड़ कराती है सरकार'

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के खिलाफ हल्ला बोल दिया है। ममता ने बीजेपी को चरमपंथी संगठन बताने के बाद आरोप लगाया है कि बीजेपी चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) से छेड़छाड़ करती है।

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 23 जून ): पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के खिलाफ हल्ला बोल दिया है। ममता ने बीजेपी को चरमपंथी संगठन बताने के बाद आरोप लगाया है कि बीजेपी चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) से छेड़छाड़ करती है। उन्होंने कहा कि वह पहले भी ऐसा कर चुकी है और आने वाले चुनावों में भी ऐसा ही करेगी। इसलिए हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं को सतर्क रहना चाहिए और उनकी निगरानी करनी चाहिए।ममता ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से अधिक जिम्मेदार बनने का आह्वान किया। साथ ही कहा कि देश तृणमूल कांग्रेस की ओर देख रहा है। उन्होंने कहा, 'हम बीजेपी नहीं हैं। हम उनकी तरह व्यवहार नहीं कर सकते। वे हमें मुठभेड़ों में मारने की धमकी दे रहे हैं। मैं उन्हें अच्छी तरह जानती हूं। मैं उनसे सामने आकर हमें चुनौती देने के लिए कहूंगी। मैं आप सभी से अपने कार्यों में अधिक जिम्मेदार बनने की अपील करती हूं। देश तृणमूल कांग्रेस की ओर देख रहा है। विभिन्न स्थानों के लोग अब यह जानना चाहते हैं कि तृणमूल कांग्रेस क्या सोचती और करती है। मैं उनके प्रति जवाबदेह हूं तो मुझे यह विश्वास दीजिए कि मैं उनसे गर्व के साथ बात कर सकूं। आप सभी को तृणमूल कांग्रेस पर गर्व होना चाहिए।'ममता बनर्जी ने बीजेपी, कांग्रेस, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और माओवादियों पर आरोप लगाया कि बंगाल में उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ हाथ मिला लिए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में वोट प्रतिशत बढ़ाने के लिए भगवा दल ईवीएम से छेड़छाड़ कर रहा है। ममता बनर्जी ने कहा, 'यह लोकसभा चुनाव पर ध्यान देने का समय है। वोटर लिस्ट पर काम शुरू हो गया है तो आप सभी को सतर्क होने की जरूरत है। वरिष्ठ नेताओं को युवा सदस्यों को प्रशिक्षण देना चाहिए, जिससे वे इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन की जानकारी हासिल कर सकें। केंद्र सरकार इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी करती है। चुनाव दूर नहीं है। हमें किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने की जरूरत है।'

NEXT STORY
Top