ममता ने नोटबंदी को बताया अदुरदर्शी फैसला, कहा- करोड़ों लोग गंवा रहे हैं रोजगार

कोलकाता (13 दिसंबर): नोटबंदी को लेकर तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का प्रधानमंत्री मोदी और केंद्र सरकार पर एकबार फिर निशाना साधा है। ममता बनर्जी ने नोटबंदी को आम जनता और श्रमिकों के लिए एक ‘झटका’ करार देते हुए कहा कि करोड़ों लोग इस अदूरदर्शी नीति का शिकार हुए हैं। ममता बनर्जी के मुताबिक नोटबंदी आम जनता के लिए एक बड़ा झटका और श्रमिकों के लिए अधिकतम झटका है। करोड़ों लोग इस अदूरदर्शी नीति का शिकार हुए हैं।

तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने फेसबुक पेज पर लिखा है कि करोड़ों लोग अदूरदर्शी नीति के शिकार हुए हैं। यह बड़ी आपदा है। उन्होंने नोटबंदी को आजादी मिलने के बाद से कामगारों के लिए सबसे बड़ा झटका करार दिया है। ममता ने दावा किया कि नोटबंदी के फैसले ने देशभर में करीब 5 करोड़ श्रमिकों को बुरी तरह प्रभावित किया है।

ममता बनर्जी ने चिंता जताते हुए कहा कि बड़े उद्योग छंटनी की प्रक्रिया शुरू करने जा रहे हैं जिससे बड़ी संख्या में श्रमिक बेरोजगार हो जाएंगे और वो ऐसे लोगों की पीड़ा को अच्छी तरह समझ सकती हैं जिससे कि उन्हें गुजरना पड़ रहा है। ये बड़ी चिंता का विषय है जिसे वो सब के साथ साझा करना चाहती हैं।

तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने नोटबंदी के कदम को वापस लेने की भी मांग की। उन्होंने जोर देकर कहा है कि आठ नवंबर को 500 रुपये और 1000 रुपये के नोट बंद किए जाने के बाद से 95 लोग इससे संबंधित समस्याओं के चलते जान गंवा चुके हैं।