माल्या का नया पैंतरा- भारत वापसी के लिए चाहिए आजा़दी और सुरक्षा का भरोसा

नई दिल्ली (16 मई): नौ हजार चार सौ रुपये का बैंक कर्ज चुकाने में डिफॉल्टर विजय माल्या भारत वापस आना चाहते हैं। माल्या ने कहा कि इसके लिए उन्हें सुरक्षा और आजादी का भरोसा चाहिए। बकाया लोन चुकाने के लिए माल्या पर लगातार दबाव बढ़ रहा है। माल्या ने कहा कि उन्होंने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को एक नया सेटलमेंट ऑफर दिया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह मामला तेजी से बढ़ेगा।

यूनाइटेड ब्रुवरीज लिमिटेड की बोर्ड मीटिंग में शामिल डायरेक्टर्स ने यह जानकारी दी। माल्या ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस बोर्ड मीटिंग की अध्यक्षता की। प्रवर्तन निदेशालय ने कहा है कि वो माल्या को ब्रिटेन से गिरफ्तार कर भारत लाना चाहता है। बोर्ड मीटिंग में शामिल डायरेक्टरों ने बताया कि यूबीएल के चेयरमैन को बोर्ड और स्ट्रैटेजिक पार्टनर हेनेकेन का सपोर्ट है।

इंडिपेंडेंट बोर्ड मेंबर किरण मजूमदार शॉ ने कहा, हमने कई मुद्दों पर चिंता जतायी जिस पर माल्या ने भरोसा दिलाया कि वह बैंकों के साथ गंभीरता से बातचीत कर रहे हैं और जितनी जल्दी हो सकेगी वो कर्ज़ चुका देंगे। उन्होंने कहा कि वो सभी सवालों का जवाब देने के लिए इंडिया लौटना चाहते हैं, लेकिन अपनी सुरक्षा और आजादी का भरोसा चाहते हैं।