'विराट कोहली को तत्काल तीनों फॉर्मेट का कप्तान बनाया जाए'

नई दिल्ली (22 जनवरी) :  महेंद्र सिंह धोनी को मार्च-अप्रैल में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप टूर्नामेंट के लिए पहले ही कप्तान बनाने की घोषणा हो चुकी है। लेकिन भारत के पूर्व दिग्गज ऑफ स्पिनर इरापल्ली प्रसन्ना चाहते हैं कि इस फैसले को बदला जाना चाहिए। प्रसन्ना के मुताबिक तीनों फॉर्मेट की कप्तानी विराट कोहली को सौंप देनी चाहिए। अभी विराट टेस्ट फॉर्मेट के कप्तान हैं। जबकि धोनी वनडे और टी20 फॉर्मेट के कप्तान हैं।

हालांकि प्रसन्ना का कहना है कि धोनी को विकेटकीपर-बैट्समैन के नाते लिमिटेड ओवर्स फॉर्मेट में खेलते रहना चाहिए।

प्रसन्ना ने कहा, "मैं समझता हूं कि वक्त आ गया है कोहली को तीनों फॉर्मेट का कप्तान बना दिया जाए। धोनी अब 33-34 साल के हो गए हैं। किसी समय तो कप्तानी में बदलाव किया ही जाना है तो अभी क्यों नहीं। धोनी खिलाड़ी के नाते खेलते रह सकते हैं। आखिरकार फैसला धोनी को ही करना है। अगर आप मुझसे पूछे तो मैं कहूंगा कि उन्हें विकेटकीपिंग करते रहना चाहिए और कोहली को कप्तानी की ज़िम्मेदारी सौंप देनी चाहिए। यही टीम के हित में होगा।"   

क्या धोनी को खिलाड़ी के नाते टीम में रहना चाहिए, इस सवाल पर प्रसन्ना ने कहा, "अगर आप पूरा परिदृश्य देखें तो धोनी बेशक ऋद्धिमान साहा से अच्छे बैट्समैन हो सकते हैं लेकिन विकेटकीपिंग के लिहाज़ से देखा जाए तो दोनों एक समान अच्छे हैं। शायद धोनी इस भूमिका में बने रहें और आप उन से स्लॉग ओवर्स में 30-40 रन की अपेक्षा कर सकते हैं।"

प्रसन्ना ने ऑस्ट्रेलिया के साथ मौजूदा वनडे सीरीज़ में हार के पीछे टीम में जिस तरह खिलाड़ियों का चयन किया गया, उस पर भी सवाल उठाए। प्रसन्ना ने कहा कि अपने नंबर वन बोलर (आर अश्विन) को दो मैचों में लगातार बाहर बिठाने का फ़ैसला तर्क से परे था। प्रसन्ना ने मनीष पांडे को टीम से बाहर रखने और गुरकीरत मान और ऋषि धवन को खिलाए जाने पर भी सवाल किया।