मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए स्वदेशी मेट्रो पर सरकार का जोर

नई दिल्ली (23 अप्रैल): मोदी सरकार मेक इन इंडिया को प्रमोट करने के लिए तरह-तरह की कोशिशों में जुटी है। इसी कड़ी में सरकार ने देश में स्वेदेशी मेट्रों को बढ़ावा देने पर जोर दे रही है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय इस मामले में दो तरह से काम कर रही है। सरकार चाहती है कि देशभर में सभी मेट्रो के लिए स्टैंडर्ड एक जैसा हो, यानी कोच से लेकर सिग्नलिंग सिस्टम तक एक जैसा पैमाना हो। एक समान स्टैंडर्ड होने से भारत में इस तरह के उपकरण बनाने वाली कंपनियां ही देश के सभी शहरों में बनने वाली मेट्रो के लिए कोच और सिग्नल उपकरण सप्लाइ कर सकें।


एक जैसा स्टैंडर्ड होने से इसके उपकरण और ट्रेन कोच बनाने की लागत कम होगी। इसके जिस भी कंपनी को मेट्रो कोच या सिग्नलिंग उपकरण सप्लाई करने की जिम्मेदारी मिलेगी, उसके लिए यह अनिवार्य होगा कि कम से कम 75 फीसदी कोच और 25 फीसदी उपकरण भारत में बनाकर ही सप्लाइ करे।