शहीद मेजर की पत्नी बोली- बेटी को भी भेजूंगी सेना में

नारनौल (16 फरवरी):शहीद मेजर सतीश दहिया का बुधवार शाम करीब 7 बजे नांगल चौधरी में उनके पैतृक गांव बनिहाड़ी में सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। हरियाणा के वीर सपूत का शव तिरंगे में लिपटा देखकर हर आंख नम थी।

- अंतिम यात्रा में उमड़े हजारों लोग सम्मान में नारे लगा रहे थे। शहीद की पत्नी सुजाता चौधरी बोली- ‘मुझे मेरे पति की शहादत पर गर्व है। अब अपनी इकलौती बेटी को भी सेना में अफसर बनाऊंगी। पिता के सपनों काे अब वह पूरा करेंगी।’

- 2008 में सेना में भर्ती हुए दहिया की यूनिट के अधीन वह क्षेत्र था ही नहीं जहां मंगलवार को आतंकियों के घुसने की सूचना मिली थी।

   

- उन्होंने अपने कमांडर से इंचार्ज बनाने का आग्रह किया और आंतकियों को ढेर करने वाली सेना, सीआरपीएफ व पुलिस की संयुक्त टीम में शामिल हो गए।

   

- उन्होंने पत्नी को कॉल करके आतंकी सर्च ऑपरेशन की जानकारी दी। पत्नी की गुड विशिंग के बाद उन्होंने पिता का भी आशीर्वाद लिया।

   

- मेजर ने कहा था कि ऑपरेशन को सफलता पूर्वक अंजाम देकर दोबारा कॉल करेंगे। लेकिन गोलीबारी में वह घायल हो गए और उन्हें बचाया नहीं जा सका।