इस शख्स ने 1971 में शेख हसीना के पिता और परिवार की बचाई थी जान

नई दिल्ली (8 अप्रैल): अपने भारत दौरे के दूसरे दिन बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने 1971 के युद्ध में शहीद हुए भारतीय सैनिकों को सम्मानित को सम्मानित किया। साथ ही उन्होंने 1971 के युद्ध में हिस्सा लेने वाले सैनिकों से भी मुलाकात की। इस दौरान उनके साथ दिल्ली के मानेकशॉ सेंटर में पीएम मोदी भी मौजूद थे।


इस दौरान शेश हसीना ने 1971 के युद्ध में अहम भूमिक निभाने वाले मेजर अशोक तारा और उनकी पत्नी से भी मुलाकात की। 1971 के युद्ध में मेजर तारा ने बांग्लादेश के पहले राष्ट्रपति और शेख हसीना के पिता शेख मजबिर रहमान और उनके पिता की जान बचाई थी साथ ही उन्हें जेल जाने से भी बचाया था। दरअसल 1971 के युद्ध के दौरान शेख हसीना के पिता और बांग्लादेश के पहले राष्ट्रपति शेख मजबिर रहमान को वहां की सेना ने बंधक बना रखा था। और जब इसकी जानकारी 14 गार्ड में तैनात मेजर अशोक तारा को हुई तो उन्होंने तत्काल कार्रवाई करते हुए वहां से उन्हें मुक्त कराया था।