Blog single photo

वर्धा यूनिवर्सिटी से 6 छात्रों को सस्पेंड करने पर सियासत तेज

पीएम मोदी को लिंचिंग पर खत लिखने वाले वर्धा के महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय के 6 छात्रों को सस्पेंड कर दिया गया है। वहीं अब इस मामले को लेकर महाराष्ट्र में सियासत गर्म हो गई है

अविनाश पांडेय, न्यूज 24 ब्यूरो, मुंबई (13 अक्टूबर): पीएम मोदी को लिंचिंग पर खत लिखने वाले वर्धा के महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय के 6 छात्रों को सस्पेंड कर दिया गया है। वहीं अब इस मामले को लेकर महाराष्ट्र में सियासत गर्म हो गई है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि सरकार दलित और पिछड़े वर्ग के छात्रों को निशाना बना रही है।

क्या है पूरा मामला ?

- महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के छात्रों ने मांगी थी कार्यक्रम की इजाजत

- कांशीराम की पुण्यतिथि पर कार्यक्रम की मांगी थी इजाजत

- पीएम को खत लिखने का कार्यक्रम भी करना चाहते थे छात्र

- यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कार्यक्रम की इजाजत नहीं दी

- नाराज छात्रों ने यूनिवर्सिटी प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया

- प्रदर्शन के खिलाफ यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कार्रवाई की

- 6 छात्रों को यूनिवर्सिटी से सस्पेंड कर दिया गया

- कांग्रेस ने यूनिवर्सिटी की कार्रवाई पर सवाल उठाए

- दलित और पिछड़े छात्रों को निशाना बनाने का आरोप लगाया 

वहीं कांग्रेस ने इस मामले की शिकायत महाराष्ट्र चुनाव आयोग में दर्ज कराई है और साथ ही आरोप लगाया है कि मोदी सरकार दलित और पिछड़े तबके के छात्रों को निशाना बना रही है। वहीं सस्पेंड हुए छात्रों का भी साफ कहना है कि उन्होने कांशीराम की पुण्यतिथि के मौके पर कार्यक्रम की इजाजत मांगी थी। जिसमें वो पीएम मोदी को खत लिखने के कार्यक्रम का आयोजन भी करना चाहते थे, लेकिन इजाजत मांगने के बावजूद उन्हें परमिशन नहीं मिली। जिस वजह से इन लोगों ने विरोध किया तो इन्हें गलत तरीके से सस्पेंड कर दिया गया। वहीं महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के मैनेजमेंट का साफ कहना है कि इस मामले में कार्रवाई नियम के मुताबिक की गई है। यूनिवर्सिटी में किसी भी तरह के प्रदर्शन पर पहले से रोक है, लेकिन छात्रओं ने नियम को तोड़ दिया। जिस वजह से उनके खिलाफ कार्रवाई की गई है।

पहले पीएम मोदी के खिलाफ खत लिखने वाले फिल्मकारों के खिलाफ केस दर्ज किया गया और अब वर्धा के महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के 6 छात्रों को सस्पेंड किया गया। लोगों के पीएम मोदी को खत लिखने पर हो रही ये कार्रवाई सवाल उठा रही है कि क्या पीएम मोदी को खत लिखना अब देश में अपराध हो गया है। क्योंकि कांग्रेस ने छात्रों पर हुई कार्रवाई को चुनावी मुद्दा बना लिया है और आने वाले वक्त में ये मामला और गर्म हो सकता है।

ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये रिपोर्ट...

Tags :

NEXT STORY
Top