ना'पाक' साजिश, खुफिया जानकारी के लिए ISI चला रही थी टेलीफोन एक्सचेंज

नई दिल्ली ( 17 जून ): जम्मू-कश्मीर की खुफिया एजेंसियों से मिली जानकारी के आधार पर महाराष्ट्र एटीएस और लातूर जिला पुलिस ने एक फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़ किया है। इस फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज का पाकिस्तान की खुफिया एजेंसिया भारत में सेना की जासूसी के लिए इस्तेमाल कर रही थीं। संवेदनशील सैन्य सूचनाओं को लेने के लिए आईएसआई ने वॉइस ओवर इंटरनल प्रोटोकॉल (वीओआईपी) बेस्ड एक्सचेंज का प्रयोग किया है।महाराष्ट्र एटीएस और लातूर जिला पुलिस ने यहां से 4 लाख 60 रुपए भी जब्त किए हैं। साथ ही एटीएस और पुलिस ने 96 सिमकार्ड, एक कम्पयूटर, सीपीयू और तीन मशीनों को जब्त किया है। जब्त की गई मशीनों और अन्य वस्तुओं का अवैध तरीके से काॅल ट्रंासफर करने में प्रयोग किया जा रहा था। इस संबंध में दो लोगों शंकर बिरादर 33 साल और रवि सब्दे 27 साल को गिरफ्तार किया गया है।टेलीफोन एक्सचेंज का पता शुक्रवार को महाराष्ट्र एटीएस, लातूर पुलिस और टेलीकम्यूनिकेन विभाग के अधिकारियों के एक संयुक्त दल द्वारा जिले के तीन स्थानों पर छापे मारने के दौरान चला। दल को जम्मू-कश्मीर स्थित सैन्य खुफिया एजेंसी द्वारा इसकी सूचना मिली थी।पुलिस स्रोतों के मुताबिक इस तरह के वीओआईपी वॉइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल एक्सचेंज का उपयोग पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों द्वारा संवेदनील सैन्य सूचनाएं हासिल करने के लिए किया जाता था। अधिकारी ने बताया कि ये एक्सचेंज जिले में पिछले छह महीने से प्रकाश नगर, देवनी तालुका और चाकुर तालुका क्षेन्नों में चल रहा था।आरोपी को इंटरनेट पर ओवरसीज कॉल मिला करता था और वह इस वॉयस कॉल को भारत में प्राप्तकर्ता को अवैध अंतरराष्ट्रीय गेटवे की मदद से ट्रांसफर करता था। इसके लिए जो प्रणाली लगाई गई थी वह इंटरकनेक्टिंग इंटरनेट वीओआईपी और मोबाइल कनेक्शन है, जिसके इस्तेमाल की इजाजत भारतीय टेलीकॉम कानून नहीं देता है।पुलिस ने बताया कि छापे के बाद 4,60,000 मूल्य वाले उपकरण जब्त किए गए हैं, ज्यादातर सामग्रियों को गिरफ्तार किए गए आरोपियों के परिसर से जब्त किया गया है।  आरोपी शंकर प्रकाश नगर स्थित अपने घर से गैरकानूनी टेलीकम्यूनिकेन जंक्शन चलाता था जबकि रवि चाकुर तालुका के किराए वाले कमरे से इसे चलाता था।छापे के बाद शंकर के घर से 96 सिम कार्ड, एक कम्प्यूटर, एक सीपीयू और तीन कॉल ट्रांसफोमिकग मीन जब्त किया गया है टेलीकम्यूनिकेन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इन अवैध एक्सचेंज से दे को 15 करोड़ रुपए के राजस्व का नुकसान हुआ है। जिले के शिवाजी नगर और एमआईडीसी पुलिस स्टेन में संबंधित धाराओं के तहत अपराध दर्ज कराया गया है।या है।