रणजी में महाराष्ट्र के खिलाड़ियों ने रचा इतिहास

मुंबई ( 14 अक्टूबर ): मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में महाराष्ट्र के स्वप्निल गुगले और अंकित बावने ने रणजी ट्रॉफ़ी में सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड बनाया है। दिल्ली के ख़िलाफ़ खेलते हुए महाराष्ट्र के कप्तान गुगले और नंबर चार पर बल्लेबाज़ी कर रहे बावने ने नाबाद 594 रनों की साझेदारी की।  

स्वप्निल गुगले 521 गेंदों पर 351 रन और बवने 500 गेंदों पर 258 रन बनाकर नाबाद रहे। 
गुगले और बावने तब क्रीज पर आए थे जब महाराष्ट्र का स्कोर दो विकेट पर 41 रन था।  इससे पहले, रणजी में सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड विजय हज़ारे और गुल मोहम्मद के नाम था। 

हज़ारे और मोहम्मद की जोड़ी ने 1946-47 के रणजी सत्र में बड़ौदा की तरफ़ से खेलते हुए होल्कर के ख़िलाफ 577 रनों की साझेदारी की थी। महाराष्ट्र ने अपनी पारी 2 विकेट पर 635 रनों पर घोषित कर दी और इस तरह वो प्रथम श्रेणी में सबसे बड़ी साझेदारी के रिकॉर्ड से 30 रन पीछे रह गए। सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड श्रीलंका के कुमार संगकारा और महेला जयवर्धने के नाम है।  दोनों ने 2006 में दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ 624 रन बनाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया था। 

दोनों के बीच 581 रन की अटूट साझेदारी रणजी क्रिकेट इतिहास में किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी और किसी भी फर्स्ट क्लास क्रिकेट की दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी है।  दोनों तीसरे विकेट के लिए नए विश्व रिकॉर्ड की ओर बढ़ रहे थे लेकिन 30 रन पहले ही खुद कप्तान स्वप्निल  ने पारी घोषित कर दी। 

दोनों  ने विजय हजारे और गुल मोहम्मद का 1947 में भारत को स्वतंत्रता मिलने से छह महीने पहले बनाये गये 577 रन के रिकार्ड को तोड़ा।  हजारे और गुल मोहम्मद ने चौथे विकेट के लिये बड़ौदा की तरफ से होलकर के खिलाफ वड़ोदरा में यह रिकॉर्ड बनाया था। गुल मोहम्मद विभाजन के बाद पाकिस्तान की तरफ खेलने लगे थे। 

अपनी नाबाद 351 रन की पारी के साथ स्वप्निल  महाराष्ट्र की ओर से एक पारी में सबसे अधिक रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने।  उनसे पहले भाऊसाहब निंबालकर ने 1948/49 में नाबाद 443 रन बनाए थे। 

महाराष्ट्र की शुरुआत खराब रही जहां पहला विकेट 21 पर गिरा तो दूसरा 41 पर गिरा लेकिन इसके बाद सलामी बल्लेबाज कप्तान स्वप्निल ने अंकित के साथ मिल कर दिल्ली के गेंदबाजों की जमकर खबर ली।  दोनों ने 164.5 ओवर तक बल्लेबाजी की।  स्वप्निल  ने अपनी पारी में 37 चौके और 5 छक्के लगाए तो अंकित ने 18 चौके और 2 छक्के लगाए।