भारी बारिश से मुंबई की सड़कें बनी संदर, रेलवे ट्रैक और एयरपोर्ट पर भी भरा पानी

Mumbai Rainन्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (2 जुलाई): देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पिछले कई दिनों से लगातार हो रही बारिश की वजह से बेहाल है। मुंबई और आसपास के इलाकों में बारिश आफत बनकर टूटा है। भारी बारिश की वजह से ऐसा लग रहा है कि मायानगरी में जिंदगी ठहर  सी गई है। रेल ट्रैक हो या सड़क या फिर एयरपोर्ट रनवे हर जगह पानी भर गया है और लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई लोकल ट्रेनों को कैंसिल किया गया है। मुंबई के किंग सर्किल इलाके में भरा पानी। लोगों के घुटनों तक पानी भर गया है। सड़कों पर पानी भरने की वजह से कई लोगों की बाइकों में भी दिक्कत आई। भारी बारिश की वजह से कई जगहों पर यातायात रोक दिया गया है। सड़कों पर वाहनों की लंबी लंबी लाइनें लगी हुई हैं। रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की भारी भीड़ है।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में देरी से पहुंचने के बावजूद मानसून ने कई रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। मुंबई और महाराष्ट्र के कई इलाकों में पिछले कई दिनों से भारी बारिश जारी है। BMC कमिश्नर के मुताबिक बीते दो दिनों में ही 540 मिलीमीटर बारिश हुई है जो पिछले 10 सालों में सबसे ज़्यादा है। बारिश का पानी सड़कों पर भर गया है, जिससे मुंबई की रफ़्तार थम सी गई है। कई जगह रेलवे ट्रैक पर पानी भर गया है, जिससे ट्रेनें धीरे चल रही हैं और कई रद्द कर दी गईं हैं। भारी बारिश का असर उड़ानों पर भी पड़ा है। मौसम विभाग ने अभी 5 जुलाई तक ऐसे ही बारिश होने की संभावना जताई है। बारिश से बिगड़ते हालातों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने आज सार्वजनिक छुट्टी का ऐलान किया है।

पुणे और मुंबई में दो अलग-अलग जगह बरसात की वजह से दीवारें गिरने का मामला सामने आया है। दोनों की जगह से अबतक कुल 22 लोगों की मौत हो चुकी है। बीती रात मूसलाधार बारिश मुंबई पर मौत बनकर बरसी। बारिश की वजह से मुंबई के मलाड और कल्याण में दीवार गिर गई। मलाड में दीवार गिरने से 14 और कल्याण में एक मासूम सहित तीन लोगों की मौत हो गई। कल्याण में एक स्कूल की दीवार दो घरों पर गिरी है। वहीं दूसरी ओर पुणे में सिंहगढ़ कॉलेज की दीवार गिरने से कम से कम 6 लोगों की मौत हो गई, जबकि चार लोग घायल बताए जा रहे हैं। मलाड इलाके में रातभर मूसलाधार बारिश के कारण एक परिसर की दीवार ढहने से 14 लोगों की मौत हो गई और करीब एक दर्जन लोग घायल हो गए। एनडीआरएफ के अधिकारियों ने बताया कि घटना देर रात करीब दो बजे हुई, जब पूर्वी मलाड इलाके के पिम्परीपाड़ा स्थित एक परिसर की दीवार ढह गई और पास की झुग्गियों में रहने वाले लोग उसकी चपेट में आ गए। दीवार गिरने से हुए लोगों की मौत पर महाराष्ट्र के सीएम देवेन्द्र फडणवीस ने गहरा शोक व्यक्त किया है। साथ ही सीएम ने मरने वालों के परिजनों के लिए 5-5 लाख रुपए के मुआवजे का भी एलान किया है। इसके अलावा सीएम फड़णवीस ने लोगों से एक अपील भी की है  जिसमें उन्होंने कहा है कि लोग इस बारिश के मौसम में घर में ही रहें। जरुरी काम हो तभी घर से बाहर निकले।