खुले में पेशाब कर CM फड़णवीस के मंत्री ने उड़ाई स्वच्छता अभियान की धज्जियां

मुंबई (20 नवंबर): मोदी सरकार जहां देशभर में स्वच्छता के लिए खास अभियान चला रही है और देश को खुले मे शौच से मुक्त बनाने के लिए हर मुमकिन कोशिश में जुटी है वहीं 19 नवंबर को विश्व टॉइलट डे दिवस के मौके पर महाराष्ट्र के जल संरक्षण मंत्री राम शिंदे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में शिंदे सड़क के किनारे खुले में पेशाब करते हुए नजर आ रहे हैं। वीडियो वायरल होने के बाद मंत्री अपने बचाव में उतरे और स पूरे मामले में सफाई दी।

उन्होंने कहा कि वे सरकार के जलयुक्‍त शिविर स्‍कीम के लिए पिछले एक महीने से दौरा कर रहे थे और इसके चलते वह काफी बीमार महसूस कर रहे थे। ऐसे में उन्हें जल्दी बाथरूम जाना था, लेकिन बीमार होने के कारण वह टॉइलट की तलाश नहीं कर पाए और उन्हें खुले में पेशाब करना पड़ा। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्‍वच्‍छ भारत अभियान पर भी सवाल खड़े हो गए हैं। वीडियो पर एनसीपी ने कहा कि मंत्री को हाईवे पर कोई शौचालय नहीं मिला इससे पता चलता है कि मोदी का स्‍वच्‍छ भारत अभियान कितना सफल हो पाया है। शिंदे कारजाट जामखेड़ विधानसभा सीट से भाजपा के विधायक हैं।