सूखे से परेशान लातूर में बीजेपी मंत्री ने खींची SELFIES

लातूर (18 अप्रैल): महाराष्ट्र की ग्रामीण विकास मंत्री पंकजा मुंडे की ये सेल्फी सवालों में है। मंत्री जी लातूर में पहुंचीं तो थी सूखे से निपटने के लिए प्रशासन के काम का जायजा लेने। लेकिन यहां पानी की दो बूंदों के लिए तरस रहे लोगों के बीच मंत्री पंकजा मुंडे सेल्फी खींचने में व्यस्त ज्यादा दिखीं। 

दरअसल फड़नवीस सरकार में मंत्री पंकजा मुंडे कल लातूर के केसाई गांव पहुंची थी। मौका था सूखे से पीड़ित लोगों को मिल रही राहत का मुआयना करने का। लेकिन मौका मिलते ही पंकजा ने यहा सेल्फी लेना शुरू कर दिया। जैसे लातूर कोई सूखा पीड़ित इलाका न होकर टूरिस्ट डेस्टिनेशन हो।

लातूर के लिए ये नहर कितनी राहत लाएगी ये तो पता नहीं लेकिन इन तस्वीरों ने पंकजा मुंडे को मुश्किल में जरूर डाल दिया है। क्योंकि कांग्रेस और दूसरी विपक्षी पार्टियां उन पर निशाना साध रही है।

पंकजा से पहले सूखा ग्रस्त इलाके में मंत्री एकनाथ खड़से के दौरे पर विवाद हुआ था। आरोप है कि खड़से के हेलीकॉप्टर के लिए जो हेलीपैड बनाया गया था उसमें 10 हजार लीटर पानी खर्च कर दिया गया। आरोप लगने के बाद खड़से और फड़नवीस सरकार ने सफाई दी थी। लेकिन अब पंकजा मुंडे की ये तस्वीरें पार्टी की मुश्किल एक बार फिर बढ़ाने वाली हैं।

अब आपको बताते हैं कि जिस लातूर में ये इन मंत्रियों के ये विवादित दौरे हो रहे हैं। वहां जनता की हालत क्या है...  > लातूर में लोग 2 बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं > मराठवाड़ा के ज्यादातर बांध सूखे पड़े हैं > प्रति व्यक्ति 8 लीटर पानी भी नहीं मिल पा रहा है > कई-कई किलोमीटर जाकर पानी के दर्शन हो रहे हैं

लेकिन पहले एकनाथ खड़से के लिए दस हजार लीटर पानी की बर्बादी और अब मंत्री पंकजा की सेल्फी की ये तस्वीरें सवाल पूछ रही हैं कि आखिर फड़नवीस सरकार सूखे से निपटने के लिए कितनी गंभीर है।