Blog single photo

महाराष्ट्र: राज्यपाल ने एनसीपी को सरकार बनाने के लिए दिया मंगलवार रात 8.30 तक का वक्त

महाराष्ट्र का सियासी ड्रामा अभी थमता नजर नहीं आ रहा है। दिनभर चली उठा-पठक के बाद अब राज्यपाल नेराज्य में तीसरी बड़ी पार्टी एनसीपी को कल(मंलगवार) रात साढ़े बजे तक सरकार बनाने का वक्त दे दिया है।

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(11 नवंबर):   महाराष्ट्र का सियासी ड्रामा अभी थमता नजर नहीं आ रहा है। दिनभर चली उठा-पठक के बाद अब राज्यपाल ने राज्य में तीसरी बड़ी पार्टी एनसीपी को कल(मंलगवार) रात साढ़े बजे तक सरकार बनाने का वक्त दे दिया है। कयास लगाए  जा रहे थे कि सोमवार को शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस को साथ लेकर सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। राज्यपाल से मिलकर बाहर निकले एनसीपी नेताओं ने मीडिया से कहा कि वो कांग्रेस से बात करने बाद जितनी जल्दी होगा राज्यपाल को अपना जवाब भेजेंगे। ध्यान रहे इस दौरान एनसीपी के नेताओं ने शिवसेना का नाम तक नहीं लिया। एनसीपी के नेताओं ने यह स्वीकार किया कि राज्यपाल ने उन्हें सरकार बनाने का न्योता दिया है। जिस पर वह कल कांग्रस से बात करेंगे। इधर ऐसा प्रतीत होता है कि बीजेपी भी पर्दे के पीछे से खेल करने के जुगत में लगी है।  देर रात बीजेपी की तरफ से मुनगंटीवार का बयान आया  है कि हम बेट एंड बॉच की स्थिति में हैं हम महाराष्ट्र की परिस्थिति पर नजदीकी से नजर रख  रहे हैं।

अभी तक...

महाराष्ट्र में अभी  तक सियासी ड्रामा थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है। राज्य के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने एनसीपी को सरकार बनाने के लिए कल रात साढ़े बजे तक का वक्त दिया है। 

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा है कि जनता ने बीजेपी और शिवसेना को बहुमत दिया है। हमारे 5 नेता राज्यपाल से मिलने जा रहे हैं। आगे उन्होंने कहा- हम कांग्रेस से चर्चा करके ही अगला निर्णय लेंगे। नवाब मलिक ने कहा- कि हमें उम्मीद है कि राज्यपाल उन्हें सरकार बनाने का न्योता देंगे और राज्य में स्थिर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। 

महाराष्ट्र में खूब सियासी ड्रामा देखने को मिल रहा है। शिवसेना को राजभवन से बड़ा झटका लगा है। शिवसेना ने राज्यपाल से तीन दिन का वक्त मांगा था, लेकिन राज्यपाल ने समय देने से इनकार करद दिया है।

महाराष्ट्र  को लेकर अभी भी  स्थिति स्पष्ट नहीं है। कांग्रेस की आज राज्य में सरकार गठन को लेकर बैठक भी हुई है, लेकिन अभी तक कोई निष्कर्ष नहीं निकल सका है। कांग्रेस नेता मलिका अर्जुन खड़गे ने कहा है कि एनसीपी से बातचीत करने के बाद ही शिवसेना को समर्थन देने पर विचार किया जाएगा।

- शिवसेना के युवा नेता आदित्यनाथ ने कहा है कि अभी महाराष्ट्र में सरकार को लेकर अभी स्थिति साफ नहीं है। आदित्यनाथ ने गर्वनर से मिलने के बाद कहा कि हमने उनसे 48 घंटे का वक्त मांगा है। उन्होंने कहा कि हमें राज्य में स्थिर सरकार चाहिए  जो सत्य वचनी हो। 

- महाराष्ट्र में कांग्रेस के समर्थन की अभी पूरी तस्वीर साफ नहीं हुई है। कांग्रेस ने जो राजभवन को चिट्ठी भेजी है उसमें शिवसेना को समर्थन का कोई जिक्र नहीं किया गया है।

महाराष्ट्र में शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे और विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा भी पेश किया है।

महाराष्ट्र में शिवसेना का सरकार बनाने का रास्ता साफ हो गया है। कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन देने की चिट्टी राज्यपाल को फैक्स कर दी है। काफी समय से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के घर पार्टी के बड़े नेताओं की बैठक चल रही थी। 

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से बात की है। दिल्ली में सोनिया गांधी के घर पार्टी के बड़े नेताओं की बैठक चल रही है। बताया जा रहा है कि उद्धव ठाकरे ने सोनिया गांधी से समर्थन की मांग की है।

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की माथापच्ची के बीच शिवसेा प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस से समर्थन मांग लिया है। उन्होंने इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल से बात की, बताया जा रहा है की उद्धव ने पटेल से करीब 10 मिनट फोन पर बात की है। 

महाराष्ट्र में सरकार बनाने का पेंच सुलझता हुआ नजर आ रहा है। शिवसेना शाम 7 बजे सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है। शरद पवार और उद्धव ठाकरे की बैठक हो चुकी है। थोड़ी देर में महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की बैठक होनी है। 

- महाराष्ट्र में सरकार बनाने का नया फार्म्युला सामने आ रहा है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस और एनसीपी को 14-14 मंत्री और एक-एक डिप्टी सीएम मिलेगा तभी जाकर शिवसेना अपना सीएम बना पाएगी। 

शिवसेना ने एनडीए का साथ छोड़ दिया है। एनसीपी शर्त को मानते हुए शिवसेना कोटे से मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। पत्रकारों से बात करते हुए अरविंद सावंत ने कहा कि वह अब एनडीए से बाहर हो गए है। शिवसेना राज्य में सरकार बनाने जा रही। 

-महाराष्ट्र में सरकार गठन की तस्वीर साफ होती जा रही है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे थोड़ी देर में एनसीपी चीफ शरद पवार से मिलने जा रहे हैं। इस बैठक से पहले शिवसेना ने अपने सभी विधायकों को 4 बजे होटल की लॉबी में इकट्ठा होने के लिए कहा है। वहीं, एनसीपी ने अपने सीनियर नेताओं की बैठक 4 बजे बुलाई है।

-मुंबई में एनसीपी कोर कमेटी की बैठक खत्म हो गई है। बैठक के बाद एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि वो कांग्रेस के फैसले का इंतजार करेंगे, उसके बाद ही अपना निर्णय लेंगे। नवाब मलिक ने कहा कि हमारी पार्टी वैकल्पिक सरकार बनाने के लिए तैयार है, लेकिन कांग्रेस से चर्चा के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा।

इसके पहले कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र के चुनाव प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे ने वर्किंग कमेटी की बैठक के बताया कि मीटिंग में महाराष्ट्र पर विस्तार से चर्चा हुई है। आगे की चर्चा के लिए महाराष्ट्र के वरिष्ठ नेताओं को दिल्ली बुलाया गया है और चार बजे एक बार फिर बैठक होगी और फैसला लिया जाएगा। साथ ही  मल्लिकार्जुन खड़गे ने सभी विधायकों के हस्ताक्षर वाले पत्र सोनिया गांधी को सौंप दिए हैं।

-महाराष्ट्र की राजनीति पर चर्चा हुई, दिल्ली में शाम 4 बजे बैठक होगी-खड़गे

-सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मिलने मातोश्री पहुंचे संजय राउत। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मिलने मातोश्री पहुंचे संजय राउत। एक ओर जहां सरकार बनाने पर चर्चा करने के लिए कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना बैठकें कर रही हैं, राज्यपाल से इनकार कर चुकी बीजेपी में भी हलचल जारी है। कार्यकारी मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के घर बीजेपी की बैठक चल रही है।

-शिवसेना के कोटे से केंद्र सरकार में मंत्री अरविंद सावंत थोड़ी देर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे और इस्तीफा देंगे। इसके बाद सावंत प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेंगे।

-कांग्रेस के 44 में 37 विधायक इस बात पर सहमत बताए जा रहे हैं कि शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने के पक्ष में हैं। कांग्रेस के विधायकों को फिलहाल जयपुर में रखा गया है और दिल्ली में पार्टी का शीर्ष नेतृत्व इस मसले पर बैठक कर रहा है।

-संजय राउत ने मीडिया से बातचीत में कहा, 'बीजेपी ने अहंकार दिखाया है। बीजेपी ने रविवार को राज्‍यपाल के साथ मिलकर कहा है कि हम राज्‍य में सरकार नहीं बनाएंगे, क्‍योंकि शिवसेना समर्थन नहीं दे रही है। यह बीजेपी का अहंकार है। यह महाराष्‍ट्र की जनता का अपमान है। शिवसेना की बात बीजेपी नहीं मानेगी।' उन्‍होंने कहा कि 50-50 का फॉर्म्‍यूला पहले तय हो गया था लेकिन बीजेपी पीछे हट गई। बीजेपी शिवसेना को दोष न दे।

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर कवायद तेज हो गई है। दिल्ली से मुंबई तक बैठकों का दौर चल रहा है। शिवसेना ने एनसीपी की शर्त मान ली है, जिसके बाद एनसीपी कोर कमेटी की बैठक कर रही है। बैठक में अजीत पवार भी पहुंच गए हैं। बैठक में शिवसेना को समर्थन पर फैसला लिया जा सकता है। महाराष्ट्र में हलचल तेज है। सभी पार्टियों में बैठकों का दौर जारी है. इस बीच शिवसेना नेता संजय राउत उद्धव ठाकरे से मिलने उनके आवास मातोश्री पहुंचे हैं।

Tags :

NEXT STORY
Top