Blog single photo

पीएमसी बैंक घोटाला: 24 घंटे के भीतर तीन खाताधारकों की मौत

पीएमसी बैंक घोटाले से लाखों परिवारों की जमा पूंजी पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। जरुरतों के अनुसार पैसे नहीं मिलने पर पीएमसी के खाताधारकों की चिंताएं लगातार बढ़ते जा रहे

Image Source Google

दीपक दुबे, न्यूज 24 ब्यूरो, मुंबई(15 अक्टूबर): पीएमसी बैंक घोटाले से लाखों परिवारों की जमा रकम पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। जरुरतों के अनुसार पैसे नहीं मिलने पर पीएमसी के खाताधारकों की चिंताएं लगातार बढ़ते जा रहीं हैं। अब तो हालत ये हैं कि बीते 24 घंटे में 2 लोगों की हार्ट अटैक से जान जा चुकी है। अब तीसरा मामला मुम्बई के अंधेरी इलाके में रहने वाली PMC बैंक अकाउंट होल्डर ने अधिक दवाई खाकर आत्महत्या कर ली। महिला का नाम योगिता बिजलानी (39 वर्ष), जो schizophrenia नामक बीमारी से पीड़ित थी, अभी आत्महत्या की सही वजह का पता नहीं चल पाया है।

जानकारी के मुताबिक बिजलानी के 1 करोड़ रुपये वर्सोवा PMC बैंक ब्रांच में जमा थे< मुम्बई पुलिस ने एक्सिडेंटल केस का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।  जांच जारी। बताया जा कुछ दिनों से बिजलानी काफी परेशान थी और दवाओं का ओवर डोज काल रात में लिया था। बिजलानी के पिता द्वारा मृतक की शादी 2001 में हुई थी। फिर महिला ने अमेरिकन नागरिक से शादी की। महिला के पास 18 महीने का बच्चा है। यह MD डॉक्टर थी जो अमेरिका में प्रैक्टिस करती थी। पेरेंट्स के पास आई था।PMC बैंक में अकाउंट था और करोड़ रुपये जमा थे। 

क्या है मामला?

करीब 35 साल पुराने पीएमसी बैंक में लाखों ग्राहकों की रकम फंसी हुई है। बैंक की आखिरी एनुअल रिपोर्ट के मुताबिक बैंक में ग्राहकों के 11 हजार 617 करोड़ रुपये जमा हैं। इनमें टर्म डिपॉजिट 9 हजार 326 करोड़ रुपये के करीब है जबकि डिमांड डिपॉजिट के तौर पर 2 हजार 291 करोड़ रुपये जमा हैं। पीएमसी बैंक के मैनेजमेंट पर गड़बड़ी का आरोप है, आरोप है कि बैंक के मैनेजमेंट ने अपने नॉन परफॉर्मिंग एसेट और लोन वितरण के बारे में आरबीआई को गलत जानकारी दी। पीएमसी बैंक की ओर से दिए गए लोन का करीब 73 फीसदी हिस्सा सिर्फ एक कंपनी हाउिसंग डेवलपमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर (HDIL) को दिया गया है, जो कि पहले से ही दिवालिया होने की प्रक्रिया से गुजर रही है.

Tags :

NEXT STORY
Top