महाराष्ट्र ATS ने किया अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़, 7 गिरफ्तार

इंद्रजीत सिंह, न्यूज 24 ब्यूरो, महाराष्ट्र (10 अगस्त): महाराष्ट्र एटीएस ने एक अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़ कर इस मामले में 7 लोंगो को गिरफ्तार किया है। इस एक्सचेंज से  मिडल ईस्ट देशों से जो भी कॉल आते थे, कॉल में उस देश के नम्बर नहीं दिखाकर भारत देश का नम्बर दिखाते थे। प्राथमिक जांच में ये मालूम पड़ा है कि मिडल ईस्ट देशों से जो भी कॉल आये थे उसमे से अधिकतर कॉल कश्मीर में किए गए थे। 
मुंबई एटीएस ने छापेमारी कर मुंबई में चल रहे अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़ करते हुए 7 लोंगो को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नाम नज़ीम खान, मोहमद फैज़ल बाटलीवाला, समीर दरवेज, मोहमद हुसैन सय्यद, मंदार आचरेकर, सिबतेन मर्चेन्ट और इम्तियाज शेख है। इनके पास से 513 फर्जी सिम, कई टेलीफोन उपकरण, 3 लैपटॉप, 4 डेस्कटॉप, 11 मोबाइल फोन, एक सर्वर, और 4 वाईफाई राऊटर और कुछ अन्य उपकरण बरामद हुए हैं। 
जांच में सामने आया है कि ये वीवोआईपी इंटरनेट कॉल के द्वारा लोकल नंबर को यूएई और खाड़ी देशों में रूट करने का काम करते थे। इस मामले में एटीएस ने पांच जगहों पर छापेमारी की है। जब्त सामानों की कीमत तकरीबन साढ़े 6 लाख रुपए है। जांच में सामने आया है कि यह वीओआईपी कॉल के द्वारा सरकार को तकरीबन 37 करोड़ का चूना लगा चुके हैं। इस टेलीफोन एक्सचेंज के जरिये विदेश में बैठा कोई भी शख्स भारत में इंटरनेट कॉल करता है और सिम बॉक्स के जरिए वॉइस कॉल में बदल कर भारत के जिन नंबरों पर विदेश में बैठा व्यक्ति बात करना चाहता है, ये लोग बात करा देते थे और भारतीय नंबर पर विदेशी नम्बर की जगह भारत का ही नम्बर दिखता था। 
जांच में यह भी सामने आया है की इस एक्सचेंज का इस्तेमाल कर कश्मीर में भी कॉल किए गए थे। हालांकि ये कॉल किस लिए किए गए थे और किसने किए थे इस बात की जांच एटीएस कर रही है। यह एक्सचेंज मुंबई में था और इससे देश के किसी भी हिस्से से फोन कर खाड़ी देशों में रूट किया जाता था। पकड़े गए सभी आरोपी किसी न किसी रूप से फोन और इंटरनेट के व्यवसाय से जुड़े हुए हैं। इसके साथ ही इनके संपर्क में रहने वाले लोगों के बारे में एटीएस की टीम जांच कर रही है।