महाराणा प्रताप ने जीता था 'हल्दीघाटी' युद्ध, सरकार बदलेगी इतिहास!

केजे श्रीवत्सन, जयपुर (9 फरवरी): राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार एक बार फिर इतिहास को बदलने की कोशिश में जुटी हैं। इस बार मामला हल्दीघाटी के युद्द से जुड़ा है, जोकि महाराणा प्रताप और अकबर के बीच लड़ा गया था।

वसुंधरा सरकार की माने तो भले ही महाराणा प्रताप इस युद्द में शहीद हो गए थे, लेकिन इसे अकबर ने नहीं बल्कि प्रताप ने ही जीता था। दरअसल कहा जा रहा है कि ऐसा करके बीजेपी की नज़र महाराणा प्रताप के मेवाड़ के सहानुभूति  और वोट बैंक पर टिकी है, जिसका फायदा वह अगले साल होने वाले चुनावों में उठाना चाहेगी।

इतिहासकारों के मुताबिक इस भीषण युद्ध का परिणाम आजतक बेनतीजा माना जाता रहा था, अब उसका परिणाम सरकार बदलने जा रही है। इसके लिए बाकायदा राजस्थान विश्वविद्यालय सिंडिकेट की बैठक में भाजपा विधायक और राज्य सरकार के प्रतिनिधि ने यह मुद्दा उठाया। एक शोध का हवाला देते हुए कॉलेज शिक्षा पाठ्यक्रम में

महाराणा प्रताप की इस विजय के उल्लेख किए जाने की मांग रखी है, जिसे सरकार ने भी बिना किसी आपत्ति के मान लिया है।

तर्क दिया गया कि 1576 में हुआ हल्दीघाटी का युद्ध महाराणा प्रताप ने ही जीता था, जबकि इतिहास ने इसे तोड़-मरोड़कर पेश किया गया। अब इसे विश्वविद्यालयों के सिलेबस में शामिल किया जाना चाहिए, ताकि छात्रों को सही इतिहास के बारे में अवगत करवाया जाए।

हल्दीघाटी का युद्ध 18 जून 1576 को लड़ा गया था, जो पूरे एक दिन चला था। इस भीषण युद्ध में 17 सौ सैनिक मारें गए थे।