Blog single photo

उत्तर प्रदेश में गो-संरक्षण में घोटाला, डीएम सहित पांच अधिकारी निलंबित

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महाराजगंज के जिलाधिकारी अमरनाथ उपाध्याय समेत पांच अफसरों को निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। बताया जाता है कि गोवंश के रख-रखाव में लापरवाही की लगातार शिकायतें मिलने के बाद एक जांच समिति गठित की गई थी।

ललन कुमार झा, न्यूज 24 ब्यूरो, लखनऊ(15 अक्टूबर): मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महाराजगंज के जिलाधिकारी अमरनाथ उपाध्याय समेत पांच अफसरों को निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। बताया जाता है कि गोवंश के रख-रखाव में लापरवाही की लगातार शिकायतें मिलने के बाद एक जांच समिति गठित की गई थी। इसने अपनी रिपोर्ट में कहा कि कागजों में कुल 2500 गोवंश होने की बात कही गई थी, लेकिन मौके पर जांच के लिए पहुंची टीम को मात्र 954 गोवंश ही वहां मौजूद मिले। इसके अलावा गो-सदन की 500 एकड़ भूमि को अफसरों ने गैरकानूनी ढंग से खुर्द-बुर्द कर दिया गया था।

प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए आरके तिवारी ने कहा कि गौ संरक्षण केंद्र में निराश्रित पशुओं को रखा जाता है। जिले में स्थित गो सदन में ढाई हजार गोवंश संरक्षित होना चाहिए था, लेकिन निरीक्षण में मात्र 954 गोवंश पाए गए। गोवंश संरक्षण में इतनी बड़ी कमी को गंभीरता से लिया गया है। मामले की जांच अपर आयुक्त गोरखपुर से कराई गई। कमेटी ने रिपोर्ट भेजी जिस पर अधिकारी अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं कर सके। जांच में वित्तीय अनियमितता भी पाई गई।

मुख्या सचिव ने कहा कि गौ संरक्षण में जिले के अधिकारियों की शिथिलता पाई गई है। जिलाधिकारी महराजगंज अमर नाथ, एसडीएम निचलौल देवेंद्र कुमार व एसडीएम महाराजगंज सत्यम मिश्रा, मुख्य पशु अधिकारी निचलौल वीके मौर्या व मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी महाराजगंज राजू उपाध्याय को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

निलंबित जिलाधिकारी अमरनाथ की जगह प्रयागराज में नगर आयुक्त के पद पर तैनात उज्जवल कुमार को डीएम महाराजगंज बनाया गया है। उनकी जगह निलंबित सीडीओ लखीमपुर रवि रंजन को नगर आयुक्त प्रयागराज बनाया गया है।

Tags :

NEXT STORY
Top