रविशंकर जैसे बिजनेसमैन राम मंदिर पर मध्यस्थता के लायक नहीं: महंत धर्मदास

नई दिल्ली ( 21 नवंबर ): निर्वाणी अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत धर्मदास ने मंगलवार को कहा कि श्री श्री रविशंकर जैसे कई व्यापारी घूमते रहते हैं। राम मंदिर का फैसला सिर्फ और सिर्फ साधु संत समाज और अखाड़ा परिषद तय करेगा। 

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत धर्मदास राम जन्मभूमि मामले में पक्षकार भी हैं। उनका कहना है कि मंदिर निर्माण के नाम पर कुछ लोग बिजनेस कर रहे हैं। धर्मदास ने सीधे सीधे रविशंकर की मध्यस्थता पर हमले बोलते हुए कहा कि रविशंकर जैसे पचासों लोग घूम रहे हैं टीवी पर आने के लिए। 

रविशंकर व्यापारी व्यक्ति हैं। महंत धर्मदास का कहना है कि अखाड़ा परिषद के अधीन राम मंदिर बने और साल 2017 में ही मंदिर बनाने का काम शुरू हो।