अब मदरसों में पढ़ाया जाएगा, इस्लाम सिखाता है वतन से मोहब्बत करना

भोपाल (31 मार्च): मध्यप्रदेश मदरसा बोर्ड ने एक बड़ा कदम उठाते हुए मदरसों में 'वतन से मोहब्बत का इस्लाम धर्म में क्या महत्व है' विषय पर पाठ्यक्रम पढ़ाने का निर्णय लिया है। इससे छात्र जान सकेंगे कि जिस धर्म के वे अनुयायी हैं, उसमें अपने वतन से वफादारी एवं मोहब्बत करने को कितना ऊंचा स्थान दिया गया है।


इसके अलावा, मदरसों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, जनसंघ के संस्थापक दीनदयाल उपाध्याय, भारत के प्रथम केन्द्रीय शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद, मिसाइल मैन के नाम से जाने जाने वाले पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम एवं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित देश के कई प्रसिद्ध हस्तियों की महान गाथाओं का पाठ भी पढ़ाया जाएगा।


मध्यप्रदेश मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष सैयद इमादउद्दीन ने बताया, मध्यप्रदेश मदरसा बोर्ड द्वारा मदरसों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को वतन से मोहब्बत का इस्लाम धर्म में क्या महत्व है विषय पर पाठ्यक्रम तैयार किया जा रहा है। इस पाठ्यक्रम से विद्यार्थी यह जान सकेंगे कि जिस धर्म के वे अनुयायी हैं, उसमें अपने वतन से वफादारी एवं मोहब्बत करने को कितना ऊंचा स्थान दिया गया है।