भैय्यूजी महाराज खुदकुशी मामले में बड़ा खुलासा, दिया जा रहा था नशीली दवाओं का ओवरडोज


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 जनवरी): आध्यात्मिक गुरु भैय्यूजी महाराज खुदकुशी मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। मध्यप्रदेश पुलिस के मुताबिक भैय्यूजी महाराज को नशीली दवाओं का ओवरडोज दिया जा रहा है। इंदौर पुलिस ने ये दावा आरोपियों की गिरफ्तारी और उनसे पूछताछ के बाद किया है। पुलिस के मुताबिक भय्यूजी महाराज को 25 वर्षीया युवती से कथित संबंधों के आधार पर ब्लैकमेल किए जाने के साथ ही उन्हें नशीली दवाओं का ओवरडोज भी दिया जा रहा था।  



आपको बता दें कि भैय्यूजी महाराज खुदकुशी मामले में पुलिस ने उनके निजी सचिव पलक पुराणिक और दो सहयोगियों-विनायक दुधाड़े और शरद देशमुख  को गिरफ्तार किया है। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र का दावा है कि उनके पास भय्यू महाराज और युवती के बीच सोशल मीडिया पर की गयी आपत्तिजनक चैट की कॉपी और अन्य डिजिटल सबूत हैं और इन्हीं सबूतों के आधार तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी की गयी है। पुलिस के मुताबिक आरोपी युवती आपत्तिजनक चैट और अन्य निजी वस्तुओं के आधार पर भैय्यूजी पर शादी के लिये भारी दबाव बना रही थी। युवती ने भय्यू महाराज को धमकी दी थी कि अगर उन्होंने 16 जून 2018 तक उसके साथ सात फेरे नहीं लिए तो वह पुलिस में शिकायत कर उन्हें बदनाम कर देगी।



भैय्यूजी महाराज पहले से ही शादीशुदा थे और युवती की इस धमकी की वजह से भारी मानसिक तनाव थे।डीआईजी के मुताबिक आध्यात्मिक गुरु के दो विश्वस्त सहयोगियों-दुधाड़े और देशमुख पर आरोप है कि वे भय्यू महाराज को ब्लैकमेल करने की साजिश में शुरूआत से शामिल थे और इस काम में युवती की लगातार मदद कर रहे थे।