विभाग नहीं माना तो शिवराज की कैबिनेट ने माफ किया शंकराचार्य की बस का रोड टैक्स

नई दिल्ली (9 जून): अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में रहने वाले शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती एक बार फिर चर्चा में हैं। इस बार मामला टैक्स का है। दरअसल, मध्य प्रदेश सरकार ने उनके बस का करीब आठ लाख रुपए का रोड टैक्स माफ कर दिया है।

शंकराचार्य स्वरूपानंद की 1.5 करोड़ रुपए की लग्जरी बस का रोड टैक्स माफ करने का फैसला बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में लिया गया। स्वरूपानंद सरस्वती का आश्रम राज्य के नरसिंहपुर जिले के एक गांव में है। 

रोचक बात यह है कि इस टैक्स को माफ कराने के लिए पत्र शंकराचार्य की तरफ से नहीं बल्कि राज्य के मंत्री बाबू लाल गौर ने परिवहन विभाग को पत्र लिखा था। हालांकि इसके बाद विभाग ने उनका टैक्स माफ करने से मना कर दिया था। इसके बाद कैबिनेट की मंजूरी के बाद टैक्स से छूट दे दी गई। बता दें कि यह बस 15 लाख रुपए में खरीदी गई थी जिसे सुविधाओं की पूर्ति के लिए 1 करोड़ 35 लाख रुपए खर्च किए गए।