मध्य प्रदेश: SP गौरव तिवारी के ट्रांसफर के विरोध में रोकी गई रेल

नई दिल्ली(16 जनवरी): कटनी हवाला घोटाले में मंत्री संजय पाठक का नाम आने के बाद अचानक हुए एसपी गौरव तिवारी के तबादले का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा। यह विरोध बढ़ता ही जा रहा है। तमाम प्रदर्शनों के बाद अब कटनी के लोगों ने कोटा-कटनी ट्रैन रोकी गयी।

- मध्यप्रदेश के कटनी में 500 करोड़ के हवाला कारोबार का खुलासा करने की सजा पाने वाले एसपी गौरव तिवारी के समर्थन में रैलियां जारी हैं। इस मामले में आज दोपहर में एनएसयूआई मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेगी।

- वहीं रविवार को सैकड़ों बच्चों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया।

- कटनी में 6 दिन से विरोध प्रदर्शन का दौर चल रहा है।

- शनिवार को इस मामले में 15 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था।

- रविवार को बच्चों ने हाथ में तख्तियां लेकर रैली निकाली, जिसमें लिखा था, 'बहुत से एसपी देखे जिलों में, गौरव तिवारी ऐसे एसपी, जो हमेशा रहेंगे दिल में'।

- तिवारी को महज 6 महीने में कटनी से हटाया गया और कोई कारण नहीं बताया गया है, लेकिन हवाला मामले की जांच कर रहे एसपी का आरोपियों की गिरफ्तारी से पहले ही तबादला और उस पर इतना हंगामा बड़े सवाल खड़ा करता है।

कौन है गौरव तिवारी...

गौरव तिवारी ने कटनी एसपी रहते हुए हवाला मामले की जांच के लिए पुलिस की एसआईटी बनाई। इस एसआईटी ने कई फर्जी खातों का खुलासा करते हुए हवाला कारोबारी सरावगी बंधु के कर्मचारी संदीप बर्मन को गिरफ्तार भी किया और बड़ी मात्रा में दस्तावेज भी बरामद किए। वे लोग भी सामने आए, जिनके नाम से बैंक में फर्जी खाते खोलकर करोड़ों का लेन-देन हुआ। एसपी गौरव तिवारी के कार्यकाल में हवाला कारोबार की जांच अंतिम दौर में थी।