मध्य प्रदेश: खाट में लाश ले जाने को मजबूर

नई दिल्ली(5 अकटूबर): मध्यप्रदेश में सीधी जिले के मझौली थाना के अन्तर्गत ताला गांव में वैश्य समाज के दो भाइयों लाला वैश्य, मुन्ना वैश्य पिता नन्द कुमार ने अपने पड़ोस में रह रही वृद्ध महिला पुनिया वैश्य की जादू टोना कर विकलांग करने व बीमार करने के सन्देह से लाठी डन्डो से बेरहमी से पिटाई कर दी। जिससे गम्भीर हालत में उपचार कराने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य मझौली में भर्ती कराया गया, जहा उपचार के दौरान उसकी मौत हो ग​ई।

हद तो तब हो ग​ई जब मृतिका के शव को पोस्ट मार्टम के परिजनों द्वारा शव वाहन उपलब्ध कराने के लिए कहा तो अस्पताल प्रवन्धन ने साफ मना कर दिया। फिर परिजनों को वास वल्ली के सहारे खाट में शव को पैदल ले जाना पडा। जिले में करीब तीन माह  इस तरह की दर्जनों घटनाये हो चुकी है जब इस सम्बन्ध में क​ई बार सी एम एच ओ से बात हुई तो उन्होंने कहा कि जिले में करीब दो ही शव वाहन जो एक जिला अस्पताल में और दूसरा मझौली में है मझौली का शव वाहन विल्कुल खराब जिसकी जानकारी सरकार को मैंने भेजी है। शव वाहन के लिए अलग से कोई वजट नही देती, जबकि आज की घटना को लेकर मझौली बी. एम. ओ. आर. के. सतनामी से  बात करने की कोशिश की तो उन्होंने ने कुछ बताने से साफ मना कर दिया है। 

वही दूसरी तरफ़ हत्या कर फरार लाला व मुन्ना वैश्य दो सगे भाइयों को पुलिस ने बड़ी मुस्तैदी दिखाते हुए पडोस के गाव से गिरफ़्तार कर लिया है । बड़ा सवाल जहाँ एक ओर मंत्री हर्ष सिंह के बीमार होने पर एयर एम्बुलेंस तत्काल आती है,उन्हें दिल्ली ले जाने को,और वही एक गरीब खाट में डेड बॉडी ले जाने को मजबूर है।