कश्मीर जैसे पत्थर मध्यप्रदेश में नहीं चलने दूंगा: शिवराज

भोपाल (10 जून): मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज चौहान में प्रदेश में किसानों द्वारा जारी हिंसा के बीच दशहरा मैदान पर उपवास रखा है। सीएम ने यहां पर कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि जिनके पास सत्ता नहीं है, उनसे प्रार्थना है कि हिंसा का रास्ता छोड़ दें। सत्ता तो आती जाती है, मेरे शांत प्रदेश में आग मत लगाओ, मत लगाओ, मत लगाओ।इसी के साथ शिवराज ने कहा कि जब तक शांति बहाल नहीं होगी, मैं खुद को कष्ट दूंगा। पानी के अलावा कुछ नहीं लूंगा। उन्होंने कहा कि अनिश्चितकालीन उपवास के साथ किसानों की समस्याएं सुनी जाएंगी।- जब तक शांति बहाल नहीं होगी, खुद को कष्ट दूंगा। पानी के अलावा कुछ नहीं लूंगा।- अनिश्चितकालीन उपवास के साथ किसानों की समस्याएं सुनी जाएंगी।- अभी दशहरा मैदान से ही सरकार चलाई जाएगी।- प्राइवेट वाहन जला दिए, 127 सरकारी गाड़ी जला दी गई। जनता का जीना मुहाल कर दिया गया।- कश्मीर जैसे पत्थर मध्यप्रदेश में नहीं चलने दूंगा।- जिनके पास सत्ता नहीं है, उनसे प्रार्थना है कि हिंसा का रास्ता छोड़ दें।- सत्ता तो आती जाती है, मेरे शांत प्रदेश में आग मत लगाओ, मत लगाओ, मत लगाओ।- हम फसलों की असल लागत का निर्धारण तय करने के लिए एक आयोग का गठन करेंगे।- फसल के लाभ की दर भी जल्द निर्धारित की जाएगी।