खनिज अमले पर रेत माफिया का हमला

नई दिल्ली(3 सितंबर): जैसे जैसे शहडोल का लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहा है वैसे वैसे  बीजेपी के मंत्रियो और पदाधिकारियो की मनमानी बढ़ते जा रही है। पहले शहडोल में एक अधिकारी से 50 हजार की मांग,दूसरे दिन प्रदेश के एक मंत्री महोदय द्वारा वहाँ के तहसीलदार को भद्दी गालियां और अब उमरिया जिले में रेत का अवैध उत्खनन रोकने गए खनिज अमले पर  रेत माफिया के गुर्गो का हमला। 

- खनिज विभाग के दो कर्मचारी घायल,पकड़े गए ट्रेक्टर को भी छुड़ा ले गए गुर्गे,भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष ज्ञानेन्द्र सिंह सहित दर्जन भर लोगो खिलाफ मामला दर्ज। 

- महीने भर के अंदर चौथी बार रेत की गाड़ी पकड़े जाने से नेता जी का गुस्सा सातवें आसमान पर पंहुच गया, और जैसे ही उन्हें एक बार फिर धंधे में खनिज विभाग की दखलंदाजी की खबर मिली गुर्गो के साथ पंहुच गये और न सिर्फ अवैध रेत से भरी ट्रेक्टर ट्राली छुड़ा ले गए बल्कि खनिज अमले की जमकर धुनाई भी कर दी, जिससे माइनिंग इंस्पेक्टर प्रभात पट्टा का एक हाथ टूट गया और उनके शरीर में कई जखम बन गए जबकि साथ रहे सर्वेयर नरबद आर्मो के शरीर में अंदरूनी चोट जरूर आई है।

- पूरी घटना जिला मुख्यालय से चंद कदम दूर कछरवार रोड की है जंहा खेरवा गांव से रेत लेकर आ रहे ट्रेक्टर को खनिज अमले ने रोका और जिसके बाद भाजपा नेता ज्ञानेंद्र सिंह अपने साथी मानपुर जनपद सदस्य मनीष सिंह के साथ दर्जन भर गुर्गो को लेकर घटना को अंजाम दिया बहरहाल पीड़ितों ने पुलिश में शिकायत दर्ज करवाई है जिस पर कोतवाली पुलिश ने तीन नामजद भाजपा नेताओं के साथ ही दर्जन भर लोगो के खिलाफ मामला दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है।