बोले मधुर भंडारकर, 'इंदू सरकार' से न तो कोई शब्द हटाऊंगा, न किसी को दिखाऊंगा

नई दिल्ली (14 जुलाई): फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर का कहना है कि वह न तो अपनी आने फिल्म 'इंदू सरकार' किसी को दिखाएंगे और न ही इसमें कोई काट-छांट करेंगे। भंडारकर की यह फिल्म आपातकाल पर आधारित है। भंडाकर की इस फिल्म नील नितिन मुकेश, कीर्ति कुल्हाड़ी और अनुपम खेर मुख्य भूमिका में हैं।


गौरतलब कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सेंसर बोर्ड) ने मधुर भंडारकर से कहा था कि वह फिल्म से कुछ शब्दों को हटा दें। एक अंग्रेजी से न्यूज चैनल से बात करते हुए उन्होंने कहा, 'मैं फिल्म में से कोई भी शब्द नहीं हटाऊंगा।' भंडारकर ने कहा, 'जैसे ही मुझे सेंसर बोर्ड से लिस्ट मिल जाएगी तो मैं इस बारे में अपनी टीम से बात करूंगा उसके बाद ही ट्राइब्यूनल या रिवाजिंग कमिटी के पास जाऊंगा। मुझे सेंसर बोर्ड के ये कट मंजूर नहीं हैं। इन शब्दों को काटने की कोई जरूरत ही नहीं हैं क्योंकि इन्हें हटाने पर फिल्म का मूल संदेश प्रभावित हो जाएगा।'


उन्होंने कहा कि वह आरएसएस, कम्युनिस्ट जैसे शब्द नहीं हटाएंगे क्योंकि इन्हें तो सामान्य तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है। भंडारकर ने कहा, 'हम इन शब्दों को रोजाना इस्तेमाल करते हैं और फिल्म में किसी भी तरह की आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल नहीं किया गया है। इस फिल्म के लिए मैंने काफी रिसर्च किया है तो आखिर उसे मैं फिल्म में इस्तेमाल क्यों नहीं कर सकता?'