मधेसी मोर्चा ने कहा-नेपाल सरकार 'सिनसियर' नहीं है

नई दिल्ली (13 जनवरी): संयुक्त मधेसी मोर्चा के नेताओं ने आरोप लगाया है कि टास्क फोर्स में शामिल सत्ता गठबंधन की तीनों प्रमुख पार्टियों के नेता मधेसी समस्या को लटका रहे हैं। टास्कफोर्स में मधेसी मोर्चा के एक सदस्य के अलावा सापीएन-यूएमएल, यूसीपीएन-एम और प्रमुख नेपाली कांग्रेस के सदस्यों को यह पहले से बता दिया गया था कि मधेसी मोर्चा की प्रमुख मांगो पर अपनी राय स्पष्ट करके आयें, लेकिन पिछली शाम को हुई वार्ता में कोई भी नेता पहले से तैयार होकर नहीं आया था।

मधेस मोर्चा के नेताओँ में इस बात को लेकर भी आक्रोश है कि टास्क फोर्स में शामिल उप प्रधान मंत्री भीम रावल ने वार्ता में अपने प्रतिनिधि अग्निखरेल को भेज दिया, जबकि यूसीपीएन-एम की तरफ से कृष्ण बहादुर माहरा की जगह होम मिनिस्टर शक्ति बसनेत शामिल हुए। हर बार अलग-अलग लोगों के आने से वार्ता कभी भी किसी भी मुकाम पर नहीं पहुंच सकती।