मधेस आंदोलनः बीरगंज बॉर्डर की नाकेबंदी जारी रहेगी-ह्रदयेश त्रिपठी

नई दिल्ली (10 जनवरी): संयु्क्त लोकतांत्रिक मधेसी मोर्चा के वरिष्ठ नेता ह्रदयेश त्रिपाठी ने कहा है कि अगर नेपाल के तीनों बड़े राजनीतिक दल विश्वनीय आश्वासन दें तो वो सरकार के प्रस्ताव को मान सकते हैं। 'काठमाण्डुपोस्ट डॉट ईकांतिपुर डॉट कॉम' को एक साक्षात्कार में ह्रदयेश त्रिपठी ने कहा कि मधेसी मोर्चा को अब भी प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली पर पूरी तरह भरोसा नहीं करता।

ह्रदयेश त्रिपठी ने कहा कि अगर नेपाल के राजनीतिक दल चाहते हैं मधेसी मोर्चा अपना आंदोलन वापस ले तो उन्हें संयुक्त रूप से सहमति पर हस्ताक्षर करने चाहिए। उन्होंन कहा कि संविधान में संशोधन के लिए नेपाली कॉंग्रेस के सांसद बिमलेंद्र निधि ने भी बिल पेश किया है। इस बिल में भी वो सभी मांगे सम्मिलित हैं जिनके लिए मोर्चा आंदोलनरत है। ह्रदयेस त्रिपाठी ने कहाजब तक मोर्चा की मांगे नहीं मानी गयीं तो बीरगंज बॉर्डर पर चल रही नाकेबंदी जारी रहेगी।