'गणेशा' ने गायब कर दिया चाईनीज़ ड्रैगन, बाजार में फिर से मेड इन इंडिया का दबदबा

नई दिल्ली (23 अक्टूबर): भारतीय मूर्तिकारों ने इस बार ड्रैगन का दम निकाल दिया है। दिवाली के लिए सजे बाजारों से चीन से आयातित देवी देवताओं की मूर्तियां यानी 'गॉड फिगर' गायब हैं और बाजार में भारतीय मूर्तिकारों द्वारा बनाई गई मूर्तियां छाई हुई हैं। पिछले कुछ साल से दिवाली पर देवी-देवताओं की मूर्तियों के बाजार पर 'चीनी सामान' का दबदबा था। ग्राहक भी बेहतर फिनिशिंग और कम दामों वाली चीन से आयातित मूर्तियों की मांग करते थे, लेकिन इस बार हवा का रुख बदला दिखाई दे रहा है।

ग्राहक चीनी माल के बजाय स्वदेशी उत्पादों को प्राथमिकता दे रहे हैं। राजधानी के प्रमुख थोक बाजार सदर बाजार के कारोबारियों का कहना है कि इस बार बाजार में चीन से आयातित 'गॉड फिगर' की उपस्थिति काफी कम है। भारतीय कारीगरों ने अधिक आकर्षक और बेहतर फिनिशिंग वाली मूर्तियों से बाजार को पाट दिया है जिससे 'ड्रैगन' गायब हो गया है। सदर बाजार में पिछले कई दशक से 'गिफ्ट आइटम' का कारोबार करने वाले स्टैंडर्ड ट्रेडिंग के सुरेंद्र बजाज बताते हैं, 'इस बार एक अच्छा रुख दिखाई दे रहा है। कम से कम देवी देवताओं की मूर्तियों के बाजार से चीन पूरी तरह गायब है। ग्राहक भी भारतीय मूर्तियों की मांग कर रहे हैं।'