रेलवे का बड़ा तोहफा, अब गंदे टॉयलेट और बर्थ की सीधे कर सकेंगे शिकायत

नई दिल्ली (16 अप्रैल): भारतीय रेलवे यात्रियों को बड़ा तोहफा देने जा रही है। दरअसरल रेलवे यात्रियों की हर तरह की शिकायतें अब एक मोबाइल ऐप के माध्यम से दूर होंगी। रेल कर्मियों को भी अपनी विविध समस्याओं के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। इसके लिए रेल मंत्रालय दो अलग-अलग ऐप तैयार करवा रहा है।

रेलवे इस महीने के आखिर में ‘मदद’ (मोबाइल एप्लीकेशन फॉर डिजायर्ड असिस्टेन्स ड्यूरिंग ट्रैवल) मोबाइल एप्लीकेशन जारी कर देगा जिसके जरिए मुसाफिर खाने की क्लालिटी, गंदे शौचालय जैसी शिकायतें दर्ज करा सकेंगे। इस ऐप के जरिए वे इमरजेंसी सेवाओं की भी मांग कर सकते हैं। ऐप के जरिए अधिकारियों तक सीधे शिकायत पहुंच जाएंगी और ऑनलाइन कार्रवाई हो सकेगी। इस तरह से शिकायतों को दर्ज करना और उसे निपटाने की पूरी प्रक्रिया तेजी से हो सकेगी। इसके साथ ही मुसाफिर अपनी शिकायतों का स्टेटस और उस पर की गई कार्रवाई की जानकारी पा सकेंगे।

मदद ऐप पर यात्री खराब खाने, गंदे कंबल-चादर या बदबूदार टायलेट के अलावा असुरक्षा संबंधी शिकायतें भी कर सकेंगे। ऐप पर दर्ज की गई शिकायत सीधे संबंधित डिवीजन के सक्षम अधिकारी तक पहुंचेगी। और इसी के साथ यात्री को तत्काल शिकायत दर्ज होने तथा समाधान संबंधी उपायों के बारे में संदेश प्राप्त होंगे। यात्री अपनी शिकायत की स्थिति को ट्रैक भी कर सकेगा। इस व्यवस्था में मौजूदा सभी ऐप और नंबर समाहित हो जाएंगे। अभी शिकायत दर्ज कराने के 14 तरह इंतजाम हैं। इनमें फोन नंबर, एसएमएस, ऑनलाइन, कॉल सेंटर, ट्विटर, फेसबुक, शिकायत पुस्तिका जैसे उपाय शामिल हैं। इन सभी में समाधान का अपना-अपना समय है। किसी में जल्दी समाधान होता है तो किसी में महीनो लग जाते हैं। एक मोबाइल ऐप भी पहले लांच हो चुका है। लेकिन वो कामयाब नहीं हुआ।