पीएम मोदी को मारना चाहता था अबू जुंदाल

मुंबई (28 जुलाई): मुंबई की मकोका अदालत ने अपना अहम फैसला सुनाते हुए अबु जुंदाल समेत 11 लोगों को दोषी करार दिया गया है। मकोका अदालत ने कहा कि 2002 गुजरात दंगों के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया को मारने के लिए यह साजिश रची गई थी। MCOCA कोर्ट ने कहा यह आतंकी हमले की बड़ी साजिश थी, जिसे आरोपियों ने जिहाद का नाम दिया था।

दरअसल, महाराष्ट्र के औरंगाबाद में 8 मई 2006 को हथियारों से भरी गाड़ी को पकड़ा गया था। आरोप लगा था कि गाड़ी का ड्राइवर जबी, वो ही अबू जुंदाल है, जबकि जबी के वकील का दावा था कि जांच अधिकारियों के पास इसे साबित करने के लिए पूरे सबूत नहीं हैं।

उल्‍लेखनीय है कि 8 मई 2006 को महाराष्ट्र में औरंगाबाद के करीब चंदवाड़-मनमाड़ हाईवे पर एंटी टेररिज्म स्कॉवड ने एक टाटा सूमो और इंडिया कार को रोका। तलाशी के दौरान उसमें 30 किलो 

आरडीएक्स,10 एके-47 रायफलें और 3,200 कारतूस बरामद हुए। इस मामले में 3 आरोपी पकड़े गए। आरोप लगा कि इंडिका को जबी चला रहा था। सरकारी पक्ष का कहना है कि जबी कोई और नहीं 26/11 का हैंडलर अबू जुंदाल है, जो उस वक्त पुलिस को चकमा देकर बांग्लादेश के रास्ते भाग निकला और बाद में पाकिस्तान पहुंच गया।